डोनाल्‍ड ट्रंप के फैसले से हड़बड़ाए इमरान ने कबूला- हमने दी थी जिहादियों को ट्रेनिंग

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि 'अफगानिस्‍तान को लेकर हमें तटस्‍थ रहना चाहिए था. हमारे शामिल होने से ये समूह हमारे खिलाफ हो गए.'

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के अफगान शांति वार्ता को खत्‍म करने का फैसला करने से इमरान खान चिढ़ गये हैं. PAK पीएम ने एक बयान में कहा कि ‘अफगानिस्‍तान में अमेरिका के सफल न होने का ठीकरा हम पर फोड़ा जाता है, जबकि हमने 70,000 लोग खोये.”

इमरान ने कहा, “80 के दशक में सोवियत ने अफगानिस्‍तान पर कब्‍जा किया तो हम इन मुजाहिदीनों को जिहाद के लिए ट्रेनिंग दे रहे थे. तो इन लोगों को पाकिस्‍तान ने ट्रेन किया, अमेरिका की CIA ने फंड किया और अब एक दशक बाद जब अमेरिकी अफगानिस्‍तान आते हैं और वहीं ग्रुप्‍स जो पाकिस्‍तान में हैं, उन्‍हें ये कहना चाहिए क्‍योंकि अब तक अमेरिकी वहां हैं तो ये जिहाद नहीं, अब ये आतंकवाद है.”

PAK पीएम ने कहा, “मेरे हिसाब से यह विरोधाभासी है और पाकिस्‍तान को तटस्‍थ रहना चाहिए था. हमारे शामिल होने से ये समूह हमारे खिलाफ हो गए. हमने 70,000 लोग गंवाए, अर्थव्‍यवस्‍था को 100 बिलियन डॉलर से ज्‍यादा का नुकसान सहा. आखिर में अफगानिस्‍तान में अमेरिका की नाकामी के लिए हमें जिम्‍मेदार ठहराया जाता है. मुझे लगता है कि पाकिस्‍तान के साथ गलत हुआ.”

तालिबान द्वारा एक हमले की जिम्मेदारी लेने के बाद ट्रंप ने अमेरिका में पिछले हफ्ते तालिबान के प्रतिनिधिमंडल के साथ होने वाली गोपनीय वार्ता रद्द कर दी थी. हमले में एक अमेरिकी सैनिक की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें

‘बड़े पद पर थोप दिया गया छोटा आदमी’, इमरान खान की अपने ही मुल्‍क में जोरदार बेइज्‍जती

पाकिस्तान संसद के संयुक्त सत्र में जोरदार हंगामा, इमरान समर्थकों-विपक्षी नेताओं के बीच हाथापाई, VIDEO