India China Standoff: US मिलिट्री देगी भारत का साथ, अमेरिकी अधिकारी बोले- चीन को नहीं करने देंगे मनमानी

व्हाइट हाउस (White House) के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज (Mark Meadows) ने कहा संदेश स्पष्ट है. हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. चीन (China) हो या कोई भी शक्तिशाली ताकत हो उसे न उस क्षेत्र में और न यहां अपनी मनमानी नहीं करने देंगे.
India China standoff US military will support, India China Standoff: US मिलिट्री देगी भारत का साथ, अमेरिकी अधिकारी बोले- चीन को नहीं करने देंगे मनमानी

भारत चीन सीमा विवाद (India China Standoff) के बीच अमेरिका से एक बेहद ही पॉजिटिव खबर आई है. व्हाइट हाउस (White House) के एक शीर्ष सहयोगी ने कहा कि चीन और भारत के बीच चल रहे विवाद में अमेरिकी सेना (US Army) भारत के साथ मजबूती से खड़ी होगी.

‘न उस क्षेत्र में न इस क्षेत्र में मनमानी नहीं करने देंगे’

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज (Mark Meadows) ने फॉक्स न्यूज को बताया, “संदेश स्पष्ट है. हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. चीन हो या कोई भी शक्तिशाली ताकत हो उसे न उस क्षेत्र और न यहां अपनी मनमानी नहीं करने देंगे.”

‘हमारी सेना मजबूत है और रहेगी’

मीडोज ने भारत चीन के बीच सीमा विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए यह टिप्पणी की हैं. उन्होंने कहा “संदेश स्पष्ट है. हमारी सेना मजबूत है और मजबूत बनी रहेगी, चाहे वह भारत और चीन के बीच संघर्ष के संबंध में हो या कहीं और.”

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

साउथ चाइना सी में अमेरिकी जहाजों ने की ड्रिल

व्हाइट हाउस के किसी अधिकारी यह बयान तब आया है, जब तीन दिन पहले ही विवादित दक्षिण चीन सागर में अमेरिका के दो एयरक्राफ्ट कैरियर ने ड्रिल की थी. वहीं चीन ने भी सैन्य अभ्यास किया, जिसकी पेंटागन और पड़ोसी देशों ने भी आलोचना की थी. 

कैसे बढ़ा तनाव?

मालूम हो कि भारत और चीन के बीच पिछले आठ हफ्तों से पूर्वी लद्दाख में LAC पर गतिरोध चल रहा है. इसमें पैंगोंग त्सो, गलवान घाटी और गोगरा हॉट स्प्रिंग जैसे इलाके शामिल हैं. वही गलावन घाटी में हुई झड़पों (Galwan Valley Faceoff) के बाद स्थिति पिछले महीने बिगड़ गई थी, जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे.

LAC पर पीछे हटी चीनी सेना

हालांकि लद्दाख में LAC पर तनाव कुछ कम होता दिखा रहा है. क्योंकि 15 जून को गलवान में पैट्रोलिंग पॉइंट 14 पर हुई हिंसक झड़प वाली साइट से चीन अपने सैनिक करीब 1.8 किलो मीटर पीछे हटा लिए हैं.

अमेरिका भी बैन करेगा चीनी ऐप्स?

वहीं अमेरिका (America) भी अब चीन को एक बड़ा झटका देने जा रहा है. भारत के बाद अब अमेरिका चीनी ऐप्स को बैन करने के बारे में सोच रहा है.

चीनी ऐप बैन करने पर गंभीरता से विचार कर रहा अमेरिका

विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि अमेरिका चीनी सोशल मीडिया ऐप्स को निश्चिच रूप से बैन करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है, जिसमें टिक टॉक ऐप भी शामिल है. यह बात माइक पोम्पियो ने फॉक्स न्यूज को इंटरव्यू देते समय कही.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts