लीबिया की राजधानी पर कब्जे की जंग में 205 मरे, भारत ने जारी की एडवाइजरी

2011 में कर्नल मुआम्मार गद्दाफ़ी को सत्ता से हटाए जाने और फिर उनकी हत्या के बाद अस्थिरता से जूझ रहे लीबिया में नया संकट पैदा हो गया था.

नई दिल्ली: लीबिया(Libya) में बिगड़ते सुरक्षा हालात के मद्देनजर, भारत ने गुरुवार को अपने नागरिकों को अत्यधिक सावधानी बरतने और समुदाय के दूसरे लोगों के साथ संपर्क में रहने के लिए कहा. विदेश मंत्रालय(MEA) की तरफ से जारी की गई एडवाइजरी में लीबिया में रह रहे भारतीयों को जल्द वापस लौटने के लिए कहा गया है.

MEA के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, “लीबिया में सुरक्षा की स्थिति को देखते हुए, भारतीय नागरिकों को अत्यधिक सावधानी बरतने, लड़ाई के स्थानों से बचने और एक दूसरे WhatsAPP ग्रुप के जरिए संपर्क में रहने की सलाह दी जाती है.” विदेश मंत्रालय की तरफ से भारतीयों के लिए हेल्पलाइन नंबर- 00218924201771 और 912146640 भी जारी किया गया है.

लीबिया की राजधानी त्रिपोली में बड़ी संख्या में भारतीय काम करते हैं जिनकी सुरक्षा के लिए विदेश मंत्रालय ने एडवाइजरी की है. WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार देश में चल रहे तनाव की वजह से अब तक 205 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा दो हफ्ते की लड़ाई में अब तक 913 लोग गंभीर रूप से घायल भी हैं.