भारतीय अमेरिकी फार्मा फर्म ने US को डोनेट की 3.4 मिलियन Hydroxychloroquine टैबलेट्स

एमनील ने 200 मिलीग्राम हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन (Hydroxychloroquine) सल्फेट की दो मिलियन गोलियां न्यूयॉर्क को दान की हैं और एक मिलियन टेक्सास को डोनेट की गई हैं, ताकि कोविड-19 के मरीजों के लिए इन टैबलेट्स का इस्तेमाल हो सके.
Hydroxychloroquine Tablets to US, भारतीय अमेरिकी फार्मा फर्म ने US को डोनेट की 3.4 मिलियन Hydroxychloroquine टैबलेट्स

भारतीय अमेरिकी स्वामित्व वाली फार्मा फर्म एमनील ने कोविड-19 से लड़ रहे न्यूयॉर्क और लुइसियाना जैसे प्रमुख स्टेस्ट को 3.4 मिलियन हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन सल्फेट टैबलेट्स (Hydroxychloroquine Tablets) डोनेट करने की बात कही है. अरबपति चिराग और चिंटू पटेल की न्यू जर्सी स्थित एमनील फ़ार्मास्युटिकल्स, अमेरिका के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है.

कंपनी ने इस डोनेशन के साथ-साथ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन सल्फेट के उत्पादन को तेज करने की भी घोषणा की है. कंपनी ने कहा कि एमनील के मौजूदा रिटेल और व्हॉलसेल कस्टमर्स के जरिए इन टैबलेट्स को देश भर में उपलब्ध कराया जाएगा. साथ ही डायरेक्ट सेल के जरिए बड़े संस्थानों तक भी इन्हें पहुंचाया जाएगा.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

एमनील ने 200 मिलीग्राम हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन सल्फेट की दो मिलियन गोलियां न्यूयॉर्क को दान करेगी और एक मिलियन टेक्सास को डोनेट को, ताकि कोविड-19 के मरीजों के लिए इन टैबलेट्स का इस्तेमाल हो सके. इसके अलावा 40 हजार गोलियां लुइसियाना को डोनेट की जाएंगी. इतना ही नहीं अगर और ज्यादा जरूरत पड़ती है तो कंपनी और भी टैबलेट्स देने को तैयार है. इसके अलावा कंपनी देश भर के हॉस्पिटल्स में भी डायरेक्ट अपने प्रोडक्ट डोनेट कर रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चिराग और चिंटू पटेल ने कहा कि एमनील से जुड़े सभी लोग कोविड़-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अपने समुदायों का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. एक ज्वाइंट स्टेटमेंट में उन्होंने कहा कि इस महत्वपूर्ण समय में हम ज्यादा से ज्यादा मरीजों को सुविधाएं देने के लिए देश भर में कोरोना की मार झेर रहे राज्यों और अस्पतालों की सहायता के लिए तत्परता से काम कर रहे हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts