पहले भारतीय पैरा कमांडो को दक्षिण कोरिया में मिलेगा वॉर हीरो का सम्मान

लेफ्टिनेंट कर्नल एजी रंगराज के नेतृत्व में 60वीं पैराशूट फील्ड एंबुलेंस ने कोरियन युद्ध के बीच मोबाइल आर्मी सर्जिकल हॉस्पिटल चलाया था

दक्षिण कोरिया की सरकार लेफ्टिनेंट कर्नल एजी रंगराज को ‘वॉर हीरो’ घोषित करने जा रही है. उत्तरी और दक्षिणी कोरिया के बीच हुए युद्ध में लेफ्टिनेंट कर्नल एजी रंगराज ने 60 पैरा फील्ड एंबुलेंस का नेतृत्व किया था. 1950 से 1953 तक चले युद्ध को 2020 में 70 साल होने वाले हैं.

उस युद्ध की याद में दक्षिण कोरिया का वॉर वेटरन मंत्रालय हर साल सम्मान की घोषणा करता है. लेफ्टिनेंट कर्नल एजी रंगराज के नेतृत्व में 60वीं पैराशूट फील्ड एंबुलेंस ने कोरियन युद्ध के बीच मोबाइल आर्मी सर्जिकल हॉस्पिटल चलाया था. भारत ने तीन साल के लिए ये सुविधा दी थी.

एजी रंगराज को महा वीर चक्र से सम्मानित किया गया था. सियोल स्थित कोरियन वॉर मेमोरियल भारत के नाम का अलग हिस्सा है जिसमें जुलाई 2020 में एजी रंगराज की बड़ी तस्वीर लगाई जाएगी. कोरिया के सार्वजनिक स्थानों पर उनके बड़े कटआउट लगाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें: