लंदन: मेयर का चुनाव नहीं लड़ सकतीं भारतीय मूल की गीता, 23 साल पहले दिया था यहूदी विरोधी बयान

लिबरल डेमोक्रेट (Democrate) उम्मीदवार गीता सिद्धू रॉब ने 1997 के आम चुनाव में यहूदी विरोधी टिप्पणी की थी. गीता सिद्धू की टिप्पणी को असामाजिक करार देते हुए उनकी मेयर पद की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया गया है.

लंदन में अगले साल होने वाले मेयर चुनाव को अब भारतीय मूल की व्यवसायी और कार्यकर्ता गीता सिद्धू रॉब नहीं लड़ सकेंगी, दो दशक पहले की गई एक टिप्पणी की वजह से उनकी उम्मीदवारी रद्द कर दी गई है. गीता सिद्धू रॉब ने 1997 के आम चुनाव में यहूदी विरोधी टिप्पणी की थी. गीता की टिप्पणी को असामाजिक करार देते हुए उनकी मेयर पद की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया गया है. गीता सिद्धू रॉब को लिबरल डेमोक्रेट पार्टी की तरफ से मेयर प्रत्याशी के रूप में उतारा गया था. गीता सिद्धू रॉब सादिक खान के खिलाफ मेयर पद की उम्मीदवार थीं.

गीता सिद्धू रॉब ऑर्गेनिक फूड एंड जूस प्रोडक्ट्स की कंपनी नोश डेटॉक्स की मालकिन हैं, उन्हें डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से मेयर पद का उम्मीदवार चुना गया था. अब उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. गीता रॉब ने 1997 के आम चुनाव कैंपेन के दौरान की गई असामाजिक टिप्पणी के लिए माफी मांगी है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘मैं 1997 के आम चुनाव कैंपेन में किए गए अपने व्यवहार के लिए दिल से माफी मांगती हूं, मेरे व्यवहार ने बहुत लोगों को आहत किया है. समाज में नस्लवाद या असामाजिकता के लिए कोई जगह नहीं है, मुझे बहुत पछतावा है. यह कोई बहाना नहीं है’.

 

‘जैक स्ट्रॉ को वोट न दिया जाए, वह एक यहूदी हैं’

बतादें कि 23 साल पहले कंजर्वेटिव पार्टी की तरफ से आम चुनाव में ब्लैकबर्न से प्रत्याशी रहीं गीता सिद्धू रॉब ने लेबर पार्टी के तत्कालीन सांसद जैक स्ट्रॉ के खिलाफ टिप्पणी की थी कि जैक स्ट्रॉ के लिए वोट न किया जाए, क्यों कि वह यहूदी हैं.

गीता सिद्धू रॉब ने अब ट्वीट कर कहा कि ‘वह उस दौरान की गई टिप्पणियों के लिए बेहद शर्मिंदा हैं. पुराने वीडियो में देखा जा सकता है कि, उन्हें अपनी टिप्पणियों पर काफी शर्मिंदगी थी और अब भी है. 23 साल पहले उन्होंने गलती की और उसकी जिम्मेदारी भी ली. उन्हें अब आज के हिसाब से जज किया जाए, वह आज असमानता और भेदभाव को मिटाना चाहती हैं’. बतादें कि लंदन में मेयर का चुनाव इस साल मई महीने में होने वाला था, लेकिन कोरोनावायरस महामारी की वजह से इसे 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.

Related Posts