चंद्रयान-2 का मजाक उड़ाने वाले फवाद चौधरी के मुंह पर पाकिस्‍तानी वैज्ञानिक ने मारा ‘तमाचा’

पाकिस्तान के वैज्ञानिक और पूर्व साइंस एंड टेक्‍नोलॉजी मिनिस्‍टर डॉक्टर अता उर रहमान ने भारत के मून मिशन को अपने देश के लिए क्‍यों बताया खतरे की घंटी.

इस्‍लामाबाद: भारत के Chandrayaan 2 मिशन को लेकर पाकिस्‍तान के साइंस मिनिस्‍टर फवाद चौधरी भले ही बिना सिर-पैर की बातें कर रहे हैं, लेकिन उनके देश के वैज्ञानिकों को पता है कि इसरो क्‍या चीज है. पाकिस्‍तान के वैज्ञानिकों को मालूम है कि इसरो का मिशन Chandrayaan 2 कितना बड़ा और कितना सफल मिशन है.

पाकिस्तान के वैज्ञानिक और पूर्व साइंस एंड टेक्‍नोलॉजी मिनिस्‍टर डॉक्टर अता उर रहमान ने फवाद चौधरी के मुंह पर एक प्रकार से जोरदार तमाचा जड़ दिया है.

डॉक्टर अता उर रहमान ने कहा कि भारत का Chandrayaan 2 मिशन पाकिस्तान के लिए वेक अप कॉल है. जियो न्यूज के एंकर से बातचीत के दौरान उन्होंने शनिवार को कहा कि भारत के Chandrayaan 2 मिशन को असफल नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि कई उन्नत तकनीक वाले देशों के भी इस प्रकार के मिशन असफल हुए हैं. उन्होंने कहा कि सफल और असफल होना इस प्रकार के मिशन का हिस्सा है, लेकिन जो अंतिम समय तक प्रयास जारी रखता है, वह ही सफल होता है.

उन्होंने कहा कि जिन देशों ने भी इस प्रकार के मिशन किए हैं, उनके भी आधे मिशन सफल हुए और आधे असफल रहे हैं.

रहमान ने कहा कि इस तरह के मिशन में बहुत सारा पैसा लगाना ठीक नहीं होगा, यह सही दृष्टिकोण नहीं है, क्योंकि ऐसे प्रयासों का रक्षा और उद्योगों पर भी प्रभाव पड़ता है. डॉ. रहमान ने कहा, “भारत जो कर रहा है, सही कर रहा है और हमें भी मंगल और चांद पर पहुंचने के लिए उनसे सीख लेनी चाहिए.”

उन्होंने कहा कि हमें चांद पर जाने की कोशिशें सिर्फ इसलिए नहीं करनी चाहिए क्योंकि हम भारत की बराबरी करना चाहते हैं, बल्कि इस प्रकार के परीक्षणों से तकनीक का विकास होता है, जिससे हमारे रक्षा और उद्योग के क्षेत्रों को मजबूती मिलेगी.

क्‍या कहा था फवाद चौधरी ने जिसे लेकर मचा बवाल

पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने Chandrayaan 2 मिशन की लैंडिंग से ठीक पहले उससे संपर्क टूटने पर बेहूदगी भरे ट्वीट किए हैं. फवाद ने ट्वीट किया कि, “…जो काम आता नहीं, पंगा नहीं लेते ना… डियर ‘एंडिया’. उन्होंने मिशन एंड होने के कारण व्यंग्य में इंडिया को ‘एंडिया’ लिख दिया. इस पर भारतीयों ने पाक मंत्री को खूब लताड़ा है.

फवाद चौधरी ने एक और ट्वीट कर लिखा, “मोदी जी सैटेलाइट कम्युनिकेशन पर ऐसे भाषण दे रहे हैं, जैसे कि वह राजनेता के बजाय एस्ट्रोनॉट हों. लोकसभा को उनसे पूछना चाहिए एक गरीब देश के 900 करोड़ रुपए क्यों बर्बाद कर दिए.”