एफिल टावर के पास बम मिलने की सूचना निकली झूठी, लोग फिर से कर सकेंगे सातवें अजूबे का दीदार

पुलिस को बुधवार देर सुबह किसी अज्ञात शख्स ने फोन कर ये जानकारी दी थी कि एफिल टावर के पास बम रखा है.

एफिल टावर
एिल टावर

दुनिया के सात अजूबों में से एक एफिल टावर (Eiffel Tower) पर उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस को यहां बम रखे जाने की जानकारी मिली. हालांकि पुलिस ने जानकारी मिलने के बाद जब एफिल टावर के आस-पास छानबीन की तो कोई भी विस्फोटक वहां से बरामद नहीं हुआ. पुलिस की प्रवक्ता ने ये जानकारी साझा की.

उन्होंने बताया कि छानबीन में जब कुछ भी विस्फोटक नहीं मिला तो सातवें अजूबे एफिल टावर को सैलानियों के लिए फिर से खोल दिया गया. फ्रेंच मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक दोपहर ढाई बजे के करीब ये टावर फिर से खोला गया. इससे पहले पुलिस को बुधवार देर सुबह किसी अज्ञात शख्स ने फोन कर ये जानकारी दी कि एफिल टावर के पास बम रखा है.

4 अक्टूबर से हो रही है उमरा की शुरुआत, 1 नवंबर से विदेशी नागरिक भी कर सकेंगे मक्का की यात्रा

बम रखे होने की जानकारी मिलने के तुरंत बाद पुलिस ने वहां मौजूद लोगों को वहां से हटाया. इनमें कई सैलानी, रेस्टोरेंट पर काम करने वाले और अन्य लोग शामिल थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटनास्थल पर मौजूद एक टूर गाइड ने बताया कि लोगों को हटाने की प्रक्रिया शांति से की गई. इस दौरान किसी भी प्रकार की भगदड़ नहीं मची.

न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक पेरिस शहर में 131 साल पुराने इस अजूबे के आस-पास की सारी गलियों में बम की सूचना मिलने के बाद बैरिकेड्स लगा दिए गए थे. हालांकि जब छानबीन में कुछ नहीं मिला तो बैरिकेड्स भी हटा लिए गए हैं.

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते सऊदी अरब ने भारत आने-जाने वाली सभी उड़ानें सस्‍पेंड की

Related Posts