अब ईरान ने ट्रंप को दिखाई आंखें, कहा- कोई गलती की तो जलाकर रख देंगे

ईरान और अमेरिका के बीच चल रहे तनाव के दौरान ईरान ने मजबूती से जवाब देने की बात कहकर अपने तेवर जाहिर कर दिए हैं.

iran america, अब ईरान ने ट्रंप को दिखाई आंखें, कहा- कोई गलती की तो जलाकर रख देंगे

दुबई: ईरान की ओर से अमेरिका के मानवरहित ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव है. शनिवार को ईरान ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि हमारे सामने कोई खतरा पैदा होता है तो उसका मजबूती से जवाब दिया जाएगा. अर्ध सरकारी तासनिम न्यूज एजेंसी ने ईरान के विदेश मंत्रालय के हवाले से कहा कि किसी भी अमेरिकी खतरे का मजबूती से जवाब दिया जाएगा.

ईरानी सेना के प्रवक्ता अबुलफजल शेकारची ने कहा, ‘ईरान के दुश्मन खासकर अमेरिका और उसके स्थानीय सहयोगी अगर हमारे खिलाफ कोई गलती करते हैं तो वो बारूद के ढेर को चिंगारी दिखाने जैसा होगा जिसमें खुद अमेरिका, उसके हित और उसके साथी जल जाएंगे’

ट्रंप ने अपने निर्देश वापस ले लिए

ईरान का कहना था कि उसने ड्रोन को अपने इलाके में गिराया है, जबकि अमेरिका का कहना है कि उसने इस घटना को इंटरनैशनल एयरस्पेस में अंजाम दिया है. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने सेना को ईरान पर हमले की इजाजत दे दी थी. न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की एक रिपोर्ट में ऐसा कहा गया है.

हालांकि आखिरी समय पर ट्रंप ने अपने निर्देश वापस ले लिए. फाइटर जेट और लड़ाकू जहाज हमले को तैयार थे, मगर आदेश के बाद कोई मिसाइल नहीं दागी गई. अमेरिका और ईरान के बीच पिछले कुछ महीनों में तनाव लगातार बढ़ रहा है.

हमले के फैसले को वापस लेने पर खुद सामने आए डॉनल्ड्र ट्रंप ने कहा था कि इसमें 150 निर्दोष लोगों की जान को खतरा था, इसलिए फैसले को वापस ले लिया गया. यही नहीं उन्होंने बातचीत का विकल्प खुला रहने की भी बात कही थी.

ईरान की सीमा का उल्लंघन नहीं करने देंगे

हालांकि ईरान ने मजबूती से जवाब देने की बात कहकर अपने तेवर जाहिर कर दिए हैं. ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्बास मोसावी ने कहा, ‘वे कोई भी फैसला लें, लेकिन हम किसी को भी ईरान की सीमा का उल्लंघन नहीं करने देंगे. अमेरिका की ओर से किसी भी आक्रामक कार्रवाई या फिर खतरे का हम मजबूती से जवाब देंगे’

हवाई सेवाओं पर असर

ईरान और अमेरिका के बीच तनाव से हवाई सेवाओं पर असर पड़ा है. ईरानी हवाई क्षेत्र के कुछ हिस्‍सों से उड़ान भरने पर अमेरिका ने रोक लगा दी है. यहां की यूनाइटेड एयरलाइंस ने एक बयान में कहा कि उसने न्‍यूयॉर्क/नेवार्क और मुंबई के बीच अपनी उड़ानें स्‍थगित करने का फैसला किया है. एयरलाइंस ने कहा है कि जिन यात्रियों ने मुंबई का टिकट कराया है, वह उनकी दोबारा से बुकिंग करेगी.

कच्‍चे तेल की कीमत पर असर

पिछले कुछ महीनों में अमेरिका-ईरान के बीच तनाव कम होने की बजाय बढ़ता गया है, जिसका असर कच्‍चे तेल की कीमतों पर देखने को मिला है. गुरुवार को जैसे ही अमेरिकी ड्रोन मार गिराने की खबर आई, कच्‍चे तेल की कीमतों में इजाफा होना शुरू हो गया.

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि ‘ईरान ने बड़ी गलती कर दी है!’ इसके बाद कच्‍चे तेल के दामों में 3 प्रतिशत से ज्‍यादा की बढ़ोतरी देखी गई. गुरुवार को कच्‍चे तेल की कीमत प्रति बैरल 65 डॉलर तक पहुंच गई.

पूरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा तेल की खपत अमेरिका करता है. बुधवार को फेडरल रिजर्व ने मुख्‍य ब्‍याज दर में कटौती के संकेत दिए हैं. अमेरिकी क्रूड इनवेंट्री में गिरावट से भी तेल की कीमतें बढ़ सकती हैं.

ये भी पढ़ें- अमेरिका-ईरान के बीच युद्ध हुआ तो? पूरी दुनिया में आसमान पर होंगे तेल के दाम

Related Posts