ईरान ने मार गिराया अमेरिकी ड्रोन, ट्रंप ने दी चेतावनी, “बहुत बड़ी गलती कर दी”

वहीं ईरान की सेना के चीफ ने भी साफ कह दिया है कि वह किसी भी जंग के लिए तैयार हैं.

तेहरान: ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्डस कॉर्प्स (आईआरजीसी) ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि उन्होंने ‘घुसपैठी’ अमेरिकी जासूसी ड्रोन को मार गिराया है. जो होरमुज खाड़ी के ऊपर उड़ रह था. बीते महीनों में इस क्षेत्र में तेहरान और वाशिंगटन के बीच बढ़ते तनावों के बीच यह घटना हुई है.

प्रेस टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, आईआरजीसी ने बयान में कहा कि अमेरिका के ‘आरक्यू-4 ग्लोबल हॉक ‘ को इसकी वायुसेना ने कोह-ए मुबारक क्षेत्र के पास मार गिराया. जो जस्क काउंटी के मध्य जिले में है. ऐसा मानव रहित विमान के ईरान के वायुक्षेत्र का उल्लंघन करने पर किया गया. लेकिन अमेरिकी सेना ने कहा कि यह अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्र के ऊपर था.

समाचार एजेंसी आईआरएनए के अनुसार, आईआरजीसी कमांडर-इन-चीफ मेजर जनरल हुसैन सलमानी ने अमेरिका को चेताया कि उसे ईरान की क्षेत्रीय अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा का सम्मान करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा, “अमेरिकी ड्रोन को मार गिराना अमेरिका के लिए एक साफ संदेश है. हमारी सीमाएं हमारी रेड लाइन हैं और हम किसी भी आक्रामकता के खिलाफ कड़ी प्रतिक्रिया देंगे.”

ईरान की इस कार्रवाई के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सख्त लहजे में ट्वीट करते हुए ईरान को चेतावनी दी. डोनल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ” ईरान ने बहुत बड़ी गलती कर दी है.” वहीं ईरान की सेना के चीफ ने भी साफ कह दिया है कि वह किसी भी जंग के लिए तैयार हैं.

ये भी पढ़ें: हॉन्ग कॉन्ग में प्रदर्शन कर रहे लाखों लोगों ने एंबुलेंस को दिया रास्ता, देखें Video