जमाल खशोगी के बेटे ने कही कातिलों को माफ करने की बात, मंगेतर बोली- किसी को नहीं ये हक

जमाल खशोगी (Jamal Khashoggi) की 2 अक्टूबर, 2018 में इस्तांबुल (Istanbul) स्थित सऊदी दूतावास में हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में 15 लोग शामिल थे, जिन्हें रियाद से इस्तांबुल भेजा गया था.
Jamal Khashoggi Murderers, जमाल खशोगी के बेटे ने कही कातिलों को माफ करने की बात, मंगेतर बोली- किसी को नहीं ये हक

इस्तानबुल में सऊदी दूतावास के अंदर दो साल पहले मशहूर पत्रकार जमाल खशोगी (Jamal Khashoggi) की हत्या कर दी गई थी. अब खशोगी के बेटे सालाह खशोगी (Salah Khashoggi) ने पिता के हत्यारों को माफ करने की बात कही है. सलाह खशोगी ने उर्दू में ट्वीट किया, “हम शहीद जमाल खशोगी के बेटे यह घोषणा करते हैं कि जिन्होंने हमारे पिता को मारा हम उन लोगों को माफ करते हैं.”

हालांकि सलाह की बातों से जमाल खशोगी की मंगेतर हेटिस सेंगिज (Hatice Cengiz) वाकिफ नहीं रखती हैं. हेटिस का कहना है कि किसी को भी ये अधिकारी नहीं है कि वो हत्यारों को माफ कर दे. यह बात हेटिस ने अपने ट्वीट में कही.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

हेटिस ने अपने ट्वीट में लिखा, “उनकी बहुत ही बेरहमी से हत्या कर दी गई थी, यह अधिकारी किसी को नहीं है कि उनके हत्यारों को माफ कर दे. मैं और अन्य लोग तब तक नहीं रुकेंगे जब तक कि हमें जमाल के लिए न्याय नहीं मिल जाता.”

इसके बाद हेटिस ने कहा कि हत्यारे सऊदी से आए थे, उन्हें (जमाल) को वे बहला-फुसलाकर ले गए ताकि उनकी हत्या कर सकें. हम न ही उन हत्यारों को माफ करेंगे और न ही उन्हें जिन्होंने हत्या करने के आदेश दिए थे.

एफपी के हवाले से एचटी ने अपने रिपोर्ट में लिखा है कि हेटिस ने कहा कि सभी जानते हैं कि वर्तमान शासन के तहत सऊदी अरब के अंदर कोई स्वतंत्रता या न्याय नहीं है. जमाल एक इंटरनेशनल सिंबल बन गए थे और उसकी हत्या एक इंटरनेशनल क्राइम है, जिसके लिए एक स्वतंत्र अदालत में मुकदमा चलाया जाना चाहिए. कोई भी कोई अंतरराष्ट्रीय कानून, सऊदी या इस्लामी कानून इस राक्षसी अपराध के लिए जिम्मेदार लोगों को फ्री करने के इजाजत नहीं दे सकता है.

जमाल खशोगी की 2 अक्टूबर, 2018 में इस्तांबुल स्थित सऊदी दूतावास में हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में 15 लोग शामिल थे, जिन्हें रियाद से इस्तांबुल भेजा गया था. जब खशोगी की हत्या की गई तो वे अपनी शादी के लिए दस्तावेज लेने सऊदी दूतावास गए थे. उनके साथ उनकी मंगेतर भी थी, जो कि दूतावास के बाहर खड़ी थी. पर खशोगी अंदर तो गए लेकिन वापस जिंदा नहीं आए.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts