कोरोना के इस टीके की सिर्फ एक खुराक काफी, 60 हजार लोगों पर अंतिम चरण का ट्रायल

वैक्सीन (Vaccine) के तीसरे चरण के ट्रायल में 60 हजार तक वॉलंटियर्स शामिल हो सकते हैं. कंपनी और यूएस नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ (जो फंडिंग प्रदान कर रही है) ने बताया कि अमेरिका और दुनिया भर में 200 से अधिक जगहों से वॉलंटियर्स इसमें हिस्सा लेंगे.

Corona Vaccine
सांकेतिक तस्वीर

जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson and Johnson) कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के तीसरे और अंतिम चरण का क्लिनिकल ट्रायल शुरू करने जा रही है. कंपनी ने बुधवार को बताया कि इससे पहले किए गए दो चरणों के नतीजे सकारात्मक आए हैं. तीसरे चरण के ट्रायल में 60 हजार तक वॉलंटियर्स (Volunteers) शामिल हो सकते हैं. कंपनी और यूएस नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ (जो फंडिंग प्रदान कर रही है) ने बताया कि अमेरिका और दुनिया भर में 200 से अधिक जगहों से वॉलंटियर्स इसमें हिस्सा लेंगे.

जॉनसन एंड जॉनसन कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल करने वाली अमेरिका की चौथी और दुनिया की 10वीं कंपनी है. कंपनी अपनी सहायक जेनसेन के माध्यम से बिना लाभ के आधार पर वैक्सीन विकसित कर रही है. कंपनी ने कहा, “ऐसा माना जा रहा है कि अगर ट्रायल सफल रहा तो 2021 की शुरुआत में दवा आपातकालीन मंजूरी के लिए तैयार होगी.”

कोरोनावायरस: देश के 7 राज्यों के 60 जिलों से आ रहे सबसे ज्यादा केस, पढ़ें दिनभर के सभी अपडेट्स

‘कोरोना महामारी को समाप्त करने में मदद’

कंपनी के अध्यक्ष और सीईओ एलेक्स गोर्स्की ने कहा, “दुनिया भर में लोगों के रोजमर्रा के जीवन पर कोविड-19 का प्रभाव जारी है. ऐसे में हमारा लक्ष्य अभी भी बदला नहीं है- हमारी कंपनी की वैश्विक पहुंच और वैज्ञानिक नवाचार का लाभ उठाते हुए इस महामारी को समाप्त करने में मदद करना है.”

एनआईएच के राष्ट्रीय एलर्जी और संक्रामक रोगों के निदेशक एंथनी फौसी ने कहा, “Sars-CoV-2 की पहचान होने के आठ महीने बीतते ही चार कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल तीसरे चरण में है. यह वैक्सीन प्रौद्योगिकी में दशकों से प्रगति के कारण संभव किए गए वैज्ञानिक समुदाय के लिए एक अभूतपूर्व उपलब्धि है.”

सिर्फ एक खुराक दिए जाने से इम्यूनिटी विकसित

अमेरिका ने Operation Warp Speed के तहत जॉनसन एंड जॉनसन को 1.45bn डॉलर का फंड दिया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि भले ही कंपनी की वैक्सीन दूसरे कैंडिडेट्स से पीछे हो, इसके अन्य फायदे हो सकते हैं. सबसे बड़ा फायदा है कि इसे सबजीरो तापमान में स्टोर करने की जरूरत नहीं है. इसकी दो नहीं, सिर्फ एक खुराक को दिए जाने से इम्यूनिटी विकसित हो सकती है.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ही ट्वीट करके FDA से तेजी से आगे बढ़ने के लिए कहा है. ट्रंप ने कहा कि कई कंपनियों को बेहतरीन नतीजे मिल रहे हैं. दूसरी तरफ, एक्सपर्ट्स का कहना है कि ट्रंप ने जो समयसीमा तय की है, उसमें सभी कैंडिडेट्स को पूरी तरह से टेस्ट नहीं किया जा सकता है.

कोरोनावायरस वैक्सीन Tracker: टीके के आखिरी चरण का ट्रायल शुरू, सिर्फ एक खुराक की होगी जरूरत

Related Posts