थाईलैंड: राजा से ‘बेवफाई’ के आरोप में शाही सहयोगी से छीने गए सारे पद

सिनीनात के नाम की चर्चा इसलिए हुई थी क्योंकि पिछली एक सदी में रॉयल नोबल कन्सॉर्ट का पद हासिल करने वाली वो पहली शख्सियत थीं.

थाईलैंड के राजा महा वाचिरालोंगकोन ने अपनी सहयोगी सिनीनात वोंग वचिरापाक से सभी शाही पद वापस ले लिए हैं. इसके पीछे कारण ‘राजा के साथ बेवफाई और दुर्व्यवहार’ बताया गया है.

आधिकारिक बयान जारी किया गया जिसमें बताया गया कि सिनीनात की महत्वाकांक्षा बढ़ती जा रही थी और वे खुद को रानी के पद तक खुद को पदोन्नत करने की कोशिश कर रही थी. बयान में बताया गया कि सम्राट क सहयोगी के व्यवहार को आपत्तिजनक पाया गया.

इसी साल जुलाई में सिनीनात की राजा की आधिकारिक सहयोगी के पद पर नियुक्ति हुई थी. उसके दो महीने पहले थाईलैंड के राजा ने सुतिदा से शादी की थी. रानी सुतिदा राजा की चौथी पत्नी हैं. 41 वर्षीय सुतिदा राजा की बॉडीगार्ड युनिट में उपप्रमुख रहने के अलावा फ्लाइट अटेंडेंट भी रह चुकी हैं. वे कई सालों तक सार्वजनिक जगहों पर राजा के साथ दिखाई देती रही हैं.

सिनीनात कौन हैं

मेजर जनरल रह चुकी सिनीनात एक प्रशिक्षित पायलट और नर्स हैं. वे बॉडीगार्ड भी रह चुकी हैं. सिनीनात के नाम की चर्चा इसलिए हुई थी क्योंकि पिछली एक सदी में रॉयल नोबल कन्सॉर्ट का पद हासिल करने वाली वो पहली शख्सियत थीं.

सोमवार को प्रकाशित हुए राजपत्र में सिनीनात से पदनाम वापस लेने की घोषणा हुई. राजपत्र में छपे बयान में कहा गया कि मई में हुए राज्याभिषेक से पहले सनीनात ने प्रतिरोध जताते हुए रानी की नियुक्ति को रोकने का दबाव बनाया.

बयान में सिनीनात पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने राजा और रानी के खिलाफ विरोध रखा और राजा की तरफ से आदेश देने वाली शक्तियों का दुरुपयोग किया. वे न तो खुद को मिले पदनाम के लिए शुक्रगुजार थीं, न ही उनका व्यवहार पद के लायक था.

इस घोषणा के साथ ही राजा ने सिनीनात से शाही पदनाम, सारे सम्मान, रॉयल गार्ड और सेना में उनकी रैंक को वापस लेने का आदेश दिया. बता दें कि राजा वाचिरालोंगकोन के पिता की मृत्यु 2016 में हुई थी जिसके बाद वे गद्दी पर बैठे.

ये भी पढ़ें:

महिला अंतरिक्ष यात्रियों ने रचा इतिहास, बिना पुरुष साथी के किया स्पेसवॉक
मार्टिन लूथर किंग की बेटी का फेसबुक को जवाब: दुष्प्रचार के कारण हुई थी सोशल लीडर की हत्या