जानिए क्यों सुलेमानी को कहा जाता था ‘शियाओं का जेम्स बॉन्ड’ और ‘लेडी गागा’

ईरान के बाहर मिडिल ईस्ट के देशों में जितने भी अभियान होते थे उनसे सुलेमानी किसी न किसी तरह जुड़े होते थे. विश्व प्रसिद्ध 'टाइम' मैगजीन ने 2017 में उन्हें 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट में शामिल किया था.
qassem soleimani was known as James Bond and lady Gaga, जानिए क्यों सुलेमानी को कहा जाता था ‘शियाओं का जेम्स बॉन्ड’ और ‘लेडी गागा’

3 जनवरी की अल सुबह इराक के बगदाद एयरपोर्ट पर ड्रोन के जरिए मिसाइल अटैक किया गया. इस अटैक में ईरान में नंबर दो की हैसियत रखने वाले मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई. सुलेमानी ईरान के लिए कितने अहम थे और क्यों उनमें लोगों को लेडी गागा और जेम्स बॉन्ड एक साथ दिखते थे, आइए जानते हैं:

1957 में पूर्वी ईरान के गरीब परिवार में जन्मे कासिम कम उम्र में ही सेना से जुड़ गए थे. 1980 में 8 साल लंबे चले ईरान-इराक युद्ध के समय बॉर्डर सिक्योरिटी के चलते उनका नाम लिया जाता रहा. अमेरिका इस लड़ाई में इराक की तरफ था. फिलहाल कासिम सुलेमानी ईरान की सेना इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड की विदेशी विंग कद्स फोर्स के जनरल थे जिसकी शुरुआत 1998 में हुई थी. सीरिया, लेबनान, इराक और यमन में सुलेमानी की खूब चलती थी.

qassem soleimani was known as James Bond and lady Gaga, जानिए क्यों सुलेमानी को कहा जाता था ‘शियाओं का जेम्स बॉन्ड’ और ‘लेडी गागा’

शियाओं के जेम्स बॉन्ड

ईरान के बाहर मिडिल ईस्ट के देशों में जितने भी अभियान होते थे उनसे सुलेमानी किसी न किसी तरह जुड़े होते थे. विश्व प्रसिद्ध ‘टाइम’ मैगजीन ने 2017 में उन्हें 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट में शामिल किया था. पूर्व सीआईए एनालिस्ट Kenneth Pollack ने उनके बारे में लिखा था ‘मध्य पूर्व में वे जेम्स बॉन्ड, इरविन रोमेल और लेडी गागा की तरह प्रसिद्ध हैं.’ 2019 में सुलेमानी ईरान के सबसे बड़े सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जुल्फिकार’ से नवाजे गए थे.

कासिम को ‘जिंदा शहीद’ कहता था ईरान के सबसे बड़ा नेता

ईरान के सबसे बड़े धार्मिक नेता अयातुल्लाह खामेनी के बाद सुलेमानी नंबर दो की हैसियत रखते थे. खामेनी जानते थे कि सुलेमानी दुश्मन की हिटलिस्ट में हैं और उन्हें कभी भी निशाना बनाया जा सकता है. इसीलिए वे सुलेमानी को जिंदा शहीद कहते थे. 2018 में डोनल्ड ट्रंप के एक ट्वीट के जवाब में सुलेमानी ने कहा था ‘हम आपके पास हैं. इतना पास कि आप सोच भी नहीं सकते. आओ, हम तैयार हैं. अगर आप जंग शुरू करेंगे तो हम खत्म करेंगे.’

qassem soleimani was known as James Bond and lady Gaga, जानिए क्यों सुलेमानी को कहा जाता था ‘शियाओं का जेम्स बॉन्ड’ और ‘लेडी गागा’
हाथ की अंगूठी से पहचाना गया सुलेमानी का शव

पहले भी आईं मौत की अफवाहें

बता दें कि कासिम सुलेमानी काफी समय से अमेरिका के निशाने पर थे, उन पर कई बार हमले की कोशिश भी की गई और कई बार उनके मरने की खबर भी आई. 2006 में एक प्लेन क्रैश, 2012 में दमिश्क में हुई बमबारी और 2015 के अलेप्पो हमले में उनके मारे जाने की खबर फैली लेकिन वह महज अफवाह निकली. 3 जनवरी 2020 को जो हुआ वह कोई अफवाह नहीं थी. सुलेमानी की हाथ की अंगूठी से उनकी लाश की पहचान की गई.

ये भी पढ़ेंः

ईरान से युद्ध नहीं चाहते लेकिन जवाबी कार्रवाई के लिए पूरी तरह से तैयार: डोनाल्ड ट्रंप

हजारों अमेरिकियों का हत्‍यारा कासिम सुलेमानी, उसे बहुत पहले ही मार देना चाहिए था: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी एयर स्ट्राइक के बाद सहमा-सहमा बगदाद का मंजर, देखिए वीडियो

दोबारा अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के लिए ‘ ट्रंप’ कार्ड है बगदाद पर एयर स्ट्राइक! पुराने ट्वीट से उठे सवाल

शातिर चालों से उड़ा रखी थी US और मिडल ईस्‍ट की नींद, 5 प्‍वॉइंट्स में जानें कौन थे जनरल कासिम सुलेमानी?

 

Related Posts