G20 समिट में मिले पीएम मोदी और ट्रंप, पढ़ें अब तक की 10 बड़ी बातें

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने द्विपक्षीय वार्ता के दौरान पीएम मोदी को लोकसभा चुनाव में जीत की बधाई दी.

ओसाका. जी-20 शिखर सम्मेलन इतर द्विपक्षीय वार्ता में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को घोषणा की कि दोनों देशों के लिए वैश्विक शांति और स्थिरता महत्वपूर्ण है और दोनों नेताओं ने वैश्विक चुनौतियों का सामना करने व आने वाले दशकों में अपने नागरिकों को समृद्धवान बनाने के लिए मजबूत नेतृत्व प्रदान करने का संकल्प लिया. बता दें कि ओसाका आने से पहले ट्रंप ने अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाए गए टैरिफ को लेकर नाखुशी जाहिर की थी.

ये भी पढ़ें: G20 Summit LIVE: ब्रिक्स की बैठक में बोले पीएम मोदी- आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा

अब तक की 10 बड़ी बातें-

  1. दोनों नेताओं की बैठक में चार बड़े मुद्दों पर बात हुईं. ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध और रक्षा संबंध पर चर्चा हुई. हालांकि इस मुलाक़ात में रूसी मिसाइल सिस्टम S400 सिस्टम पर बात नहीं हुई.
  2. ईरान के मसले पर भारत की ओर से बताया गया कि हमारा मुख्य लक्ष्य था कि स्थायित्व को कैसे सुनिश्चित किया जाए. सिर्फ ऊर्जा के क्षेत्र को ही नहीं बल्कि खाड़ी देशों में रहने वाले भारतीयों को भी अस्थायित्व प्रभावित कर सकता है.
  3. इस बैठक का सबसे बड़ा मुद्दा ईरान था क्योंकि भारत इस देश से बड़ी मात्र में तेल की खरीददारी करता है. अमेरिका और ईरान के रिश्ते में आई अस्थिरता के साथ भारत को उर्जा के क्षेत्र में बड़ा नुक्सान हो रहा है. अमेरिका ने सभी देशों को ईरान से तेल न खरीदने की हिदायत दी है. इस मुद्दे पर बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी ओर से वही संदेश है जो बीते तीन दिन से दिया जा रहा है. हमारे पास काफी समय है,समय का कोई दबाव नहीं है. ईरान समय ले सकता है. मुझे उम्मीद है कि आखिरी तक कुछ न कुछ हल निकल आएगा.
  4. दोनों नेताओं ने रणनीतिक साझेदारी में प्रगति पर और इसे अगले स्तर पर लाने के लिए नए विचारों को लाने के बारे में अपने दृष्टिकोण व विचारों का आदान-प्रदान किया.
  5. आर्थिक, व्यापार, ऊर्जा, रक्षा और सुरक्षा, आतंकवाद और अंतरिक्ष सहित द्विपक्षीय संबंधों की अभूतपूर्व व्यापकता और गहराई को दोनों नेताओं ने स्वीकार किया.
  6. जिम्मेदार लोकतंत्रों के रूप में नेताओं ने पुष्टि की कि अमेरिका और भारत के बीच एक करीबी साझेदारी वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए केंद्रीय है.
  7. दोनों ने वैश्विक चुनौतियों का सामना करने और आने वाले दशकों में अपने नागरिकों के लिए समृद्धि का निर्माण करने के लिए मजबूत नेतृत्व प्रदान करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई.
  8. ट्रंप ने भी कहा, हम लोग सबसे अच्छे दोस्त बन गए हैं. मैं विश्वास दिलाता हूं कि हम कई मुद्दों  एक साथ मिलकर काम करेंगे उनमें सेना भी शामिल है.
  9. बैठक में राष्ट्रपति प ने मोदी को लोकसभा चुनाव में मिली बड़ी जीत के लिए शुभकामनाएं दी और कहा कि दोनों देश सेना के साथ और मुद्दों पर साथ काम करेंगे. ट्रंप ने कहा, “ये एक बहुत बड़ी जीत थी, आप इसके हकदार थे, आपने बहुत अच्छा काम किया है. हमें बड़ी चीजों की घोषणा करनी है. व्यापार के मामलों पर, उत्पाद के मसले पर और 5जी पर हम चर्चा करेंगे. मैं आपको शुभकामनाएं देता हूं और आगे की  बातचीत के लिए तत्पर हूं.”
  10. इससे पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप, जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच करीब 20 मिनट तक कई मुद्दों पर बातचीत हुई. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने JAI यानि जापान अमेरिका इंडिया का नया नारा दिया. पीएम मोदी ने कहा जय का मतलब जीत होता है. उन्‍होंने कहा कि आप दोनों अपने देशों के लिए अच्‍छा काम कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि आने वाले समय में JAI दुनिया भर की आर्थिक गतिविधियों का केंद्र होगा.

अपनी द्विपक्षीय बैठक से पहले, मोदी और ट्रंप ने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ बैठक की. त्रिपक्षीय बैठक के बाद, मोदी ने ट्वीट किया, “जय (जापान, अमेरिका, भारत) की आज की त्रिपक्षीय बैठक लाभप्रद रही. हमने हिंद-प्रशांत क्षेत्र, कनेक्टिविटी में सुधार और बुनियादी ढांचे के विकास पर व्यापक चर्चा की.” आपको बता दें कि जी-20 में यूरोपीय संघ के साथ 19 देश शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: 6 माह और बढ़ाया जाए राष्‍ट्रपति शासन, साल के आखिर तक जम्‍मू-कश्‍मीर में चुनाव संभव: अमित शाह