देश के गद्दार ज़ाकिर नाइक को पनाह और कश्‍मीर पर PAK का साथ, मलेशिया भुगतेगा खामियाजा

आतंक पर भारत किसी तरह का समझौता नहीं करना चाहता. भारत साफ कर देना चाहता है कि वह मलेशिया के ऊल-जुलूल बयानों को नजरअंदाज नहीं करेगा.

इस्लामिक उपदेशक डॉ. ज़ाकिर नाइक को संरक्षण देने वाले मलेशिया पर चोट की तैयारी हो रही है. मलेशियाई सरकार ने अब तक उसे भारत वापस भेजने का फैसला नहीं किया है. और तो और, मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने भारत के आंतरिक मसले में दखल देकर रही-सही कसर पूरी कर दी. उन्‍होंने जम्‍मू-कश्‍मीर पर संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा (UNGA) में पाकिस्‍तान का साथ देकर बड़ी गलती कर दी.

आतंक पर भारत किसी तरह का समझौता नहीं करना चाहता. मलेशिया को उसकी करनी का खामियाजा आर्थिक नुकसान झेलकर उठाना होगा. भारत सरकार वहां से आयात पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाम ऑयल इम्‍पोर्ट की सीमाएं तय करने के रास्‍ते तलाशे जा रहे हैं. कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री मिनिस्‍ट्री की एक मीटिंग भी इस सिलसिले में हो चुकी है. भारत साफ कर देना चाहता है कि वह मलेशिया के ऊल-जुलूल बयानों को नजरअंदाज नहीं करेगा.

मलेशिया को किस तरह पहुंचेगी चोट?

भारत खाद्य तेलों का सबसे बड़ा इम्‍पोर्टर है. कुल खाद्य तेल आयात में करीब दो-तिहाई पाम ऑयल होता है. हम हर साल मलेशिया और इंडोनेशिया से 9 मिलियन टन से ज्‍यादा पाम ऑयल खरीदते हैं. 2019 के शुरुआती नौ महीनों में मलेशियन पाम ऑयल का सबसे बड़ा खरीदार भारत रहा है.

अब मलेशिया की बजाय अर्जेंटीना, इंडोनेशिया और यूक्रेन जैसे देशों से तेल मंगाने की तैयारी हो रही है. भारत ने तुर्की के खिलाफ भी प्रतिबंध लगाने की योजना बनाई है. मलेशिया के अलावा तुर्की ही वह मुल्‍क है जिसने कश्‍मीर पर पाकिस्‍तानी स्‍टैंड दोहराया है.

कश्‍मीर पर क्‍या है मलेशिया का स्‍टैंड?

UNGA के 74वें सत्र में मलेशियाई प्रधानमंत्री ने कहा था, “जम्मू एवं कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के बावजूद, देश पर हमला किया गया है और कब्जा कर लिया गया है.. ऐसा करने के कारण हो सकते हैं, लेकिन यह फिर भी गलत है.” उन्होंने आगे कहा था, “भारत को चाहिए कि वह पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करे और इस समस्या का समाधान करे.”

ये था भारत का जवाब

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ब्रीफिंग में मलेशियाई प्रधानमंत्री के बयान की कड़ी निंदा की थी. रवीश ने कहा था कि उन्‍होंने जमीनी हकीकत को जाने बिना यह टिप्पणी की. उन्हें आगे से इस प्रकार की टिप्पणी करने से बचना चाहिए.

कौन है जाकिर नाइक?

ढाका के होली आर्टिसन बेकरी में जुलाई 2016 में हुए आतंकी हमले में ज़ाकिर नाइक का नाम आया था. आतंकवाद से जुड़े गंभीर आरोपों के सिलसिले में उसे भारत में वांटेड घोषित किया गया था.

विवादास्पद पीस टीवी के संस्थापक 53 वर्षीय ज़ाकिर नाइक का जन्म मुंबई में हुआ था. यहां से भागने के बाद वह 2017 से मलेशिया में रह रहा है. वहां की पिछली सरकार ने उसे स्थायी निवासी भी बनाया हुआ है.

ये भी पढ़ें

जिनपिंग के भारत दौरे पर इस लालच से नजरें लगाकर बैठा पाकिस्‍तान

भारतीय महिला क्रिकेट टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं ये कश्मीरी लड़कियां