मस्जिद में दिए गए हर उपदेश की कॉपी जमा करानी होगी, श्रीलंका सरकार का आदेश

धमाकों के बाद श्रीलंका में लगाया गया आपातकाल अब भी जारी है.
मस्जिद, मस्जिद में दिए गए हर उपदेश की कॉपी जमा करानी होगी, श्रीलंका सरकार का आदेश

श्रीलंका सरकार ने आदेश दिया है कि मस्जिद में दिए जाने वाले उपदेश की एक कॉपी उनके पास जमा करानी होगी. सरकार ने यह फैसला पिछले माह ईस्‍टर बम धमाकों में 258 लोगों की मौत के बाद किया है. 21 अप्रैल को हुए हमले के बाद से ही, श्रीलंका में कट्टरपंथ पर लगाम कसने की कोशिशें चल रही हैं. मुस्लिम धर्म और सांस्‍कृतिक मामलों के मंत्रालय ने आदेश में कहा है कि मस्जिदों का इस्‍तेमाल कट्टरपंथ फैलाने के लिए नहीं होना चाहिए.

मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है, “देश के वर्तमान हालातों के मद्देनजर, मंत्रालय मस्जिदों के सभी ट्रस्‍टी को निर्देश देता है कि वे किसी तरह के ऐसे आयोजन की इजाजत न दें जिससे किसी भी तरह कट्टरपंथ या नफरत फैलती हो.” आदेश के अनुसार, हर मस्जिद को उनके परिसर में दिए गए उपदेशों की कॉपी जमा करनी होगी.

सामान्‍य स्थित‍ि की ओर लौट रहा श्रीलंका

श्रीलंका की पुलिस व सेना ने तीन दिन पहले कहा था कि देश अब सुरक्षित है. ईस्टर संडे विस्फोट में शामिल सभी को या तो गिरफ्तार कर लिया गया है या मारे गए हैं. सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल महेश सेनानायके के अनुसार, सेना ने आपातकाल नियमों के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा कि देश सामान्य स्थिति की तरफ लौट रहा है.

श्रीलंका सरकार ने 21 अप्रैल के हमले के लिए नेशनल तौहीद जमात (NTJ) को जिम्मेदार ठहराया है, जिसका कथित तौर पर इस्लामिक स्टेट से संबंध है, जिसने हमले की जिम्मेदारी ली थी. कोलंबो और उपनगरों के चर्चों को 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन हुए बम धमाकों के बाद से बंद कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें

जिस बुर्के पर हिंदुस्तान में आज जारी है बहस, उसे निपटा चुके हैं दुनिया के ज़्यादातर देश

धमाकों के बाद श्रीलंका में बुर्का-नकाब समेत चेहरा ढकने वाली सभी चीजों पर बैन

Related Posts