NASA और NOAA का दावा, शुरू हो चुका है ‘सोलर साइकिल 25’, जानिए सूरज पर क्या होंगे बदलाव?

सूरज (Sun) का 25वां सोलर साइकिल (Solar Cycle) शुरू हो चुका है. वैज्ञानिकों ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सौर घटना के संबंध में दावा किया है.

नासा (NASA) और नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन (NOAA) के वैज्ञानिकों ने मंगलवार को ‘सोलर साइकिल 25’ (Solar Cycle 25) को लेकर घोषणा की. वैज्ञानिकों का अनुमान है कि नया सोलर साइकिल शुरू हो गया है. सोलर साइकिल का संबंध पृथ्वी पर जीवन और टेक्नोलॉजी के साथ-साथ अंतरिक्ष यात्रियों से भी है.

नासा और NOAA के वैज्ञानिकों ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सूरज का 25वां सोलर साइकिल शुरू हो गया है. जिसका मतलब है कि अब सूरज की सतह पर हलचल और बढ़ जाएगी. सूरज की सतह पर तेज सौर तूफान आ सकते हैं.

प्राकृतिक घटना है ‘सोलर साइकिल ‘

नासा में काम करने वाली वैज्ञानिक लिका गुहाठकुरता ने कहा कि कुछ दिनों पहले सूरज की सतह से एक तेज सौर लपट दिखाई दी थी, जिसे कोरोनियल लहर कहा जाता है. इस लपट के साथ एक बड़ा सा काला धब्बा भी दिखाई दिया था, जिससे पता चलता है कि सूरज का नया सोलर साइकिल शुरू हो चुका है. अब सूरज तेज रोशनी, आग की लपटें और ऊर्जा अंतरिक्ष में फेंकेगा.

यह एक प्राकृतिक घटना है, जब भी सूरज की सतह पर हलचल कम हो जाती है और सूरज धीमा पड़ जाता है, तो कुछ महीनों के बाद उसकी सतह पर तेज सक्रीयता आ जाती है.

नासा से पहले सूरज को लेकर जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट ने भी दावा किया था कि सूरज पिछले 9000 साल से लगातार कमजोर होता जा रहा है. वैज्ञानिकों ने दावा किया था कि आकाशगंगा में मौजूद दूसरे तारों के मुकाबले सूरज की चमक फीकी पड़ गई है. ये अध्ययन सूरज और दूसरे तारों की उम्र, चमक और रोटेशन के आधार पर की गई है, जिसमें सामने आया था कि 9000 सालों में इसकी चमक में पांच गुना कमी आई है.

कमजोर हो चुका है सूरज

वैज्ञानिक डॉ टिमो रीनहोल्ड ने बताया था कि सूरज कुछ हजार साल से शांत है. इसका अध्ययन सूरज की सतह पर बनने वाले सोलर स्पॉट के आधार पर किया जाता है. कुछ सालों में सोलर स्पॉट की संख्या में कमी आई है. साल 1610 के बाद सूरज की सतह पर बनने वाले स्पॉट कम हुए हैं.

सूरज की स्टडी में शामिल डॉ समी सोलंकी ने बताया कि अगर सूरज की रोशनी में कमी आई है, उसकी सतह पर विस्फोट नहीं हो रहे हैं, सोलर स्पॉट नहीं बन रहे हैं, तो इसका मतलब है कि सूरज बाकि तारों की तुलना में कमजोर हुआ है.

Related Posts