आज होने वाली स्टैंडिंग कमेटी की बैठक टली, 10 जुलाई को होगी Nepal के पीएम ओली की अग्नि परीक्षा

कम्यूनिस्ट पार्ट की स्टैंडिंग कमेटी की आज होने वाली बैठक को 10 जुलाई सुबह 11 बजे तक के लिए टाल दिया गया है. इस मीटिंग में ओली के भविष्य को लेकर फैसला होना है. ये नेपाल के प्रधानमंत्री ओली (K P Sharma Oli) की सबसे बड़ी अग्नि परीक्षा मानी जा रही है.
Nepal Communist Party's Standing Committee meeting adjourned 10th July, आज होने वाली स्टैंडिंग कमेटी की बैठक टली, 10 जुलाई को होगी Nepal के पीएम ओली की अग्नि परीक्षा

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (Nepal PM K P Sharma Oli) का विरोध उनके ही देश में सड़क से लेकर संसद तक शुरू हो गया है. एक तरफ जहां नेपाल की विपक्षी पार्टियां उनकी विदेश नीति को लेकर हमलावर हैं तो वहीं दूसरी तरफ नेपाल की जनता ही केपी ओली के इस्तीफे की मांग कर रही है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

केपी ओली की खुद की पार्टी में भी उनके इस्तीफे को लेकर मांग जोर पकड़ती जा रही है. ऐसे में ओली के भविष्य को लेकर आज फैसला होना था, लेकिन मामला फिर 10 जुलाई तक के लिए टल गया है.

स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में फैसला

कम्यूनिस्ट पार्ट की स्टैंडिंग कमेटी की आज होने वाली बैठक को 10 जुलाई सुबह 11 बजे तक के लिए टाल दिया गया है. इस मीटिंग में ओली के भविष्य को लेकर फैसला होना है. ये नेपाल के प्रधानमंत्री ओली (K P Sharma Oli) की सबसे बड़ी अग्नि परीक्षा मानी जा रही है. मंगलवार को प्रचंड और ओली के बीच दो घंटे की बातचीत हुई थी, जिसके बाद दोनों नेताओं के बीच स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में फैसला लेने पर सहमति बनी थी.

इस्तीफा नहीं देने पर अड़े ओली

आपको बता दें कि 45 सदस्यों में से करीब दो तिहाई सदस्य ओली के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं, लेकिन ओली हैं कि इस्तीफा नहीं देने पर अड़े हैं. इससे पहले आपको बता दें कि चीन के राजदूत हाओ यान्की पिछले 48 घंटों के दौरान इस मामले को लेकर कई वरिष्ठ नेपाली नेताओं से मिले हैं, जिनमें पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार और झाला नाथ खनाल शामिल हैं.

चीन मतभेद सुलझाने की कोशिश में

हाओ ने मंगलवार को खनाल के साथ 45 मिनट की बैठक के दौरान सत्तारूढ़ पार्टी के भीतर आंतरिक विवादों पर चिंता व्यक्त की और चीनी दूत ने पूर्व पीएम को पार्टी के भीतर मतभेदों को सुलझाने की दिशा में काम करने का सुझाव दिया.

ये मुलाकातें ऐसे समय पर हुई हैं, जब नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली और उन्ही की पार्टी में विरोधियों का नेतृत्व कर रहे पार्टी चेयरमैन पुष्प कमल दहल प्रचंड के बीच सत्ता संघर्ष को लेकर बातचीत का दौर जारी है. प्रचंड सीधे-सीधे ओली के प्रधानमंत्री और पार्टी चेयरमैन के पद से इस्तीफे के मांग कर चुके हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बज

Related Posts