ड्रैगन के इरादों से डरा नेपाल, चीन के साथ सटे बॉर्डर पर बनाई 6 पोस्ट, 9 और बनाने की तैयारी

नेपाल-चीन सीमा पर कम से कम 9 और बॉर्डर आब्ज़र्वेशन पोस्ट बनाने का प्रस्ताव है. इन सभी को नेपाल के सशस्त्र पुलिस बल, अर्धसैनिक बल के जवानों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा.

चीन-नेपाल बॉर्डर (Cina-Nepal Border) पर दोनों देशों ने मिलकर बॉर्डर आब्ज़र्वेशन पोस्ट बना ली हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सूत्रों ने पुष्टि की है कि नेपाल ने चीन के साथ अपनी सीमा पर 6 बॉर्डर आब्ज़र्वेशन पोस्ट बनाए हैं.

ये पोस्ट हुमला जिले के हिलसा में, मस्तंग जिले के कोरल में, सिंधुपालचोक जिले के तातोपानी में, रासुवा जिले के करुंग में, सांखुवासभा जिले के किमथानका में और तपलेजंग जिले के ओलांगचंग गोला में बनाई गई हैं. सूत्रों का कहना है कि नेपाल-चीन सीमा पर कम से कम 9 और सीमा चौकियां स्थापित करने का भी प्रस्ताव है. इन सभी को सशस्त्र पुलिस बल, नेपाल के अर्धसैनिक बल के जवानों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा.

पढ़ें- विरोध के बावजूद UNHRC में दोबारा चुने गए चीन-पाकिस्तान, अमेरिका ने यूएन पर साधा निशाना

बता दें कि इससे पहले ओली सरकार पर नेपाल की विपक्षी पार्टी (नेपाली कांग्रेस) ने आरोप लगाया है कि चीन ने नेपाल के हुमला जिले में बड़े हिस्से पर कब्जा कर लिया है और प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की सरकार इस मामले पर चुप है. नेपाली कांग्रेस ने एक बयान में कहा- ओली की अगुआई वाली कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार सच छिपाकर देश को धोखा दे रही है.

नेपाल के अखबार ‘काठमांडू पोस्ट’ में पिछले महीने एक रिपोर्ट पब्लिश हुई. इसके मुताबिक, हुमला जिले में चीन ने 11 बिल्डिंग्स बनाई हैं. स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत अफसरों से की. इसके बाद गृह मंत्रालय की एक टीम यहां पहुंची. वहां चीनी सैनिक मौजूद थे.

पढ़ें- नेपाल आर्मी के जनरल की मानद उपाधि से सम्मानित होंगे भारतीय सेना प्रमुख एमएम नरवणे

Related Posts