नॉर्थ कोरिया के सैनिकों ने साउथ कोरियाई नागरिक को गोली मारी फिर कोरोना के डर से जलाया शव

पिछले कुछ वक्त से नॉर्थ कोरिया (North Korea) और साउथ कोरिया (South Korea) के बीच तनाव काफी बढ़ गया है.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 4:10 pm, Thu, 24 September 20

नॉर्थ कोरियाई सैनिकों ने एक साउथ कोरियाई संदिग्ध डिफेक्टर (South Korean Defector) की गोली मारकर हत्या कर दी, जिसके बाद दोनों देशों के बीच एक बार फिर से तनाव के हालात बन चुके हैं.

पिछले कुछ वक्त से नॉर्थ कोरिया (North Korea) और साउथ कोरिया (South Korea) के बीच तनाव काफी बढ़ गया है. सियोल के एक सैन्य अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि उत्तरी कोरिया (North Korea) के सैनिकों ने घंटों तक समुद्र में उस शख्स से पूछताछ की, फिर गोली मारकर उसका शव कोरोनावायरस (Coronavirus) के डर से बचाव के तहत जला दिया.

साउथ कोरिया के एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि जिस शख्स को नॉर्थ कोरिया के सैनिकों ने गोली मारी है, वो मत्स्य विभाग का कर्मचारी था, जो कि सोमवार को योन्पयोंग द्वीप के पश्चिमी सीमा के पास एक गश्ती जहाज से लापता हो गया.

अधिकारी ने बताया कि 24 घंटे बाद उसे नॉर्थ कोरियाई सैनिकों को वह शख्स अपने जलक्षेत्र में मिला, जहां नॉर्थ कारियाई सैनिकों ने एक गश्ती बोट में उससे घंटों पूछताछ की थी.

कोरोनावायरस के खिलाफ उठाए जा रहे कदमों के तहत जलाया शव

सैन्य अधिकारी ने बताया कि पूछताछ में नागरिक के संदिग्ध पाए जाने के छह घंटे बाद उसे गोली मार दी गई, और उसके बाद उसके शव को जलाकर समुद्र में फेंक दिया.अधिकारी ने कहा कि ‘हमें लगता है कि सैनिकों ने कोरोनावायरस के खिलाफ उठाए जा रहे कदमों के तहत ऐसा किया.’

अधिकारी ने बताया कि मृतक ने लाइफजैकेट पहना हुआ था और उसके जूते साउथ कोरियाई जहाज पर पाए गए हैं, जिससे इस बात का संकेत मिलता है कि वो शख्स अपनी मर्जी से पानी में उतरा था.

घटना के बाद साउथ कोरियो ने नॉर्थ कोरिया को दी चेतावनी

न्यूज एजेंसी ने अधिकारी के हवाले से कहा है कि संदिग्ध को हाई अथॉरिटी के आदेश पर मारा गया है. साउथ कोरिया के रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में इस घटना को अपमानजनक कृत्य बताते हुए इसकी निंदा की है. साउथ कोरिया के इस बयान में कहा गया कि ‘हम नॉर्थ कोरिया को कड़ी चेतावनी देते हैं कि इस घटना के साथ इसके परिणाम भी आएंगे’.

गौरतलब है कि नॉर्थ कोरिया ने कोरोनावायरस से बचने के लिए अपनी सभी सीमाएं बंद कर आपातकाल की घोषणा की है. नॉर्थ कोरिया की ओर से किसी साउथ कोरियाई नागरिक की हत्या की ऐसी घटना पिछले एक दशक में पहली बार सामने आई है. यह घटना तब हुई है जब नॉर्थ कोरिया कोरोनावायरस को लेकर हाई-अलर्ट पर है. नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के आपसी संबधों में पिछले कुछ समय से तल्खी बढ़ी है. इस घटना के बाद दोनों देशों के बीच तनाव के हालात पैदा हो गए हैं.