PoK की आवाम अपनी मर्जी से नहीं डाल सकती वोट, ISI चलाती है हुकूमत: अल्ताफ हुसैन

हुसैन ने कहा कि सब अपने घर में रहना पसंद करते हैं. कोई बाहर नहीं रहना चाहता है.

अल्ताफ हुसैन से ना सिर्फ प्रधानमंत्री इमरान खान बल्कि पाकिस्तान की हुकूमत डरती आई है. ये वो अल्ताफ हैं जिन्होंने पाकिस्तान को कैंसर कहा था. अल्ताफ हुसैन, पाकिस्तान की तकरीबन हर सरकार के दुश्मन रहे हैं.

पाकिस्तान के हर चुनाव में सियासी रसूख रहने वाले अल्ताफ हुसैन पिछले 27 सालों से ब्रिटेन में निर्वासित जीवन जी रहे हैं और अब भारत में शरण चाहते हैं. इसके लिए अल्ताफ ने प्रधानमंत्री मोदी से गुजारिश की है.

हुसैन ने कहा, “कुछ मामले ऐसे हैं जिनकी वजह से मैं ब्रिटेन से बाहर नहीं निकल सकता है. लेकिन मेरे चाहने वाले दुनियाभर में हैं. बलोच और सिंधी अपने अधिकार के लिए लड़ रहे हैं. इन्हें कम से कम रहने के लिए एक छत मिल जाएगी.”

उन्होंने कहा कि सब अपने घर में रहना पसंद करते हैं. कोई बाहर नहीं रहना चाहता है. जिस पाकिस्तान को हमारे बुजुर्गों ने बनाया लेकिन वहां 72 सालों से रहने वालों ने अच्छा व्यवहार नहीं किया.

हुसैन ने कहा कि मुल्क से बाहर कम लोग हैं. दिल से जुड़े हुए हैं. हमारे बुजुर्गों ने लकड़ियां तोड़-तोड़कर कलम बनाए. कागज नहीं था तो पत्तों पर लिखे. लोगों को जिंदगी दी. लेकिन हमारे लिए न तो पुराने पाकिस्तान में जगह है और न ही नए पाकिस्तान में.