ओमान की खाड़ी में ‘हलचल’ से भारत में बढ़ जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम!

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में तेजी आने से आने वाले दिनों में भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में इजाफा हो सकता है.

दुबई: ओमान की खाड़ी में दो तेल टैंकरों पर संदिग्‍ध हमलों ने दुनियाभर में हड़कंप मचा दिया है. अधिकारियों के मुताबिक, नॉर्वे के टैंकर Front Altair पर तीन धमाके हुए. इसके अलावा सिंगापुर के Kokuka Courageous नामक जहाज पर भी ‘हमला’ हुआ. ईरान ने कहा है कि उसकी नौसेना ने 44 क्रू सदस्‍यों को बचाया है. तस्‍वीरों में टैंकर्स ने धुएं का गुबार उठता देखा जा सकता है.

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्‍मद जवाद जरीफ ने ट्वीट किया, “आज सुबह जो हुआ उसे संदिग्‍ध कहना भी कमतर होगा.” ईरानी मीडिया के मुताबिक, Front Altair पर कतर से एथेनॉल का कार्गो ताइवान जा रहा था. जहाज में आग लगते ही क्रू ने पानी में छलांग लगाई और उन्‍हें पास से गुजर रहे एक जहाज ने बचाया. पहली घटना के करीब घंटे भर बाद दूसरे जहाज में आग लग गई. Kokuka Courageous सऊदी अरब से मेथेनॉल लेकर सिंगापुर जा रहा था.

मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चालक दल के सभी लोगों को सुरक्षित बहार निकाल लिया गया है. टैंकरों पर उसी क्षेत्र में हमला हुआ, जहां अमेरिका ने पिछले महीने ईरान पर आरोप लगाए थे कि उसने एक हमले में चार तेल टैंकरों पर नेवल माइंस के जरिए हमला किया था. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, ईरानी मीडिया ने कहा कि दो टैंकर संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की राजधानी अबू धाबी के बंदरगाह से रवाना हुए.

नेशनल डेली के अनुसार, 2016 में बना जहाज मंगलवार देर रात रूवैस के इमरती बंदरगाह से रवाना हुआ. 30 जून को जहाज को ताइवान के काऊशुंग बंदरगाह पर आना था. ऐसा माना जाता है कि अपनी यात्रा शुरू करने से पहले जहाज अबू धाबी में तेल से भरा हुआ था.

जहाजों पर कैसे हमला हुआ या इसके पीछे कौन जिम्मेदार था, इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. आधिकारिक समाचार एजेंसी इरना ने बताया कि ईरानी नौसेना ने गुरुवार को ओमान के सागर में ‘दुर्घटना’ के बाद दो टैंकरों से 44 चालक दल के सदस्यों को बचाया.

दुनियाभर में बढ़ गए तेल के दाम

ओमान खाड़ी क्षेत्र में तेल वाहक जहाज पर हमले की वहज से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में तीन फीसदी से ज्यादा का उछाल आया. हमले की खबर के बाद अंतर्राष्ट्रीय में ब्रेंट क्रूड के वायदा भाव में तीन फीसदी से ज्यादा का उछाल आया और तेल का भाव 62 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चला गया. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में आई तेजी से भारतीय वायदा बाजार में भी कच्चे तेल के भाव में तेजी बनी रही.

दोपहर 4.05 बजे मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर कच्चे तेल के चालू महीने के वायदा अनुबंध में 58 रुपये यानी 1.61 फीसदी की तेजी के साथ 3,654 रुपये प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था, जबकि इससे पहले कारोबार के दौरान तेल का भाव 3,688 रुपये प्रति बैरल तक उछला.

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (ICE) पर ब्रेंट क्रूड के अगस्त डिलीवरी अनुबंध में 2.05 डॉलर यानी 3.42 फीसदी की तेजी के साथ 62.02 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था. इससे पहले ब्रेंट क्रूड के अगस्त वायदे में 62.64 डॉलर प्रति बैरल का उछाल आया. गौरतलब है कि पिछले सत्र में ब्रेंट क्रूड के भाव में तीन फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई थी.

न्यूयार्क मर्के टाइल एक्सचेंज (NYMEX) पर अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (WTI) के जुलाई अनुबंध में 2.99 फीसदी की तेजी के साथ 52.67 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था.

ये भी पढ़ें

वनस्पति तेल से दिग्गज आईटी कंपनी बनी WIPRO की कमान जिन रिशद को सौंपेंगे अज़ीम प्रेमजी, वो कौन हैं?

सालभर में 10 लाख से ज्‍यादा कैश निकालने पर टैक्‍स? जानें क्‍या है मोदी सरकार की मंशा