पाक मंत्री ने मौलवियों को लगाई फटकार, कहा- चांद का विज्ञान से वास्ता है

पाकिस्तान के विज्ञान मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि इस्लामिक आस्था भी यही कहती है कि हम जानकारी जुटाएं और जहां इसकी जरूरत है इसे वहीं लागू करें.
eid-ul-fitr, पाक मंत्री ने मौलवियों को लगाई फटकार, कहा- चांद का विज्ञान से वास्ता है

नई दिल्ली: पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने धर्म से विज्ञान को अलग बताने वाले धर्मगुरुओं पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि धर्मगुरुओं को ईद-उल-फितरकी तारीख तय करते वक्त जब चांद दिखने की बात आती है तब सामान्य सूझबूझ दिखानी चाहिए. फवाद चौधरी की इस बात ने मुस्लिम धर्मगुरुओं को नाराज कर दिया है.

जाहिर है कि सभी महत्त्वपूर्ण इस्लामी त्योहारों के दौरान चांद देखे जाने के लिए रूयत-ए-हिलाल द्वारा तय किए जाने वाले पारंपरिक तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है.

पाकिस्तान में ईद-उल-फितर कब मनाई जाएगी, इस बात का फैसला अब तक रूयत-ए-हिलाल समिति ही करती आई है. चौधरी ने पिछले महीने घोषणा की थी कि 5 जून को  पाकिस्तान में ईद मनाई जाएगी. वहीं सऊदी अरब में ईद 4 जून को मनाई गई.

चौधरी ने इस्लामाबाद में हुए हालिया संवाददाता सम्मेलन में कहा, धर्मगुरूओं का ये मानना कि चांद देखे जाने का विज्ञान से कोई लेना-देना नहीं है, ये बात बहुत ही दुखद है.’ चौधरी के मुताबिक मुस्लिम कई क्षेत्रों में साइंटिफिक रिसर्च में शामिल रहे हैं. इस्लामिक आस्था भी यही कहती है कि हम जानकारी जुटाएं और जहां इसकी जरूरत है इसे वहीं लागू करें.

नैशनल असेंबली को मिली जानकारी के मुताबिक 2018 में पाकिस्तान ने मुहर्रम, रमजान, ईद-उल-फितर और ईद-उल-जुहा के मौके पर चांद देखे जाने को लेकर 30 लाख रुपये खर्च किए थे.

Related Posts