कहीं ब्लैकलिस्ट न कर दे FATF, इस डर से पाकिस्तान ने गिरफ्तार किए चार आतंकी

गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम हैं जफर इकबाल, याहया अजीज, मुहम्मद अशरफ और अब्दुल सलाम. पाकिस्तान ने इन आतंकियों पर इसलिए कार्रवई की है, ताकि 12 से 15 अक्टूबर के बीच होने वाली FATF की बैठक में ब्लैक लिस्टेड होने से बच सके.

फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) द्वारा ब्लैक लिस्ट किए जाने के खतरे से बचने के लिए पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ दिखावटी ऐक्शन शुरू कर दिया है. पाकिस्तान ने गुरुवार को लश्कर-ए-तैयबा के चार टॉप आतंकियों को टेरर फंडिंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है.

गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम हैं जफर इकबाल, याहया अजीज, मुहम्मद अशरफ और अब्दुल सलाम. पाकिस्तान ने इन आतंकियों पर इसलिए कार्रवई की है, ताकि 12 से 15 अक्टूबर के बीच होने वाली FATF की बैठक में ब्लैक लिस्टेड होने से बच सके.

दरअसल FATF ने पिछले साल हुई एक बैठक में पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने की चेतावनी देते हुए ग्रे लिस्ट में डाल दिया था. चार आतंकियों पर कार्रवाई करने के बाद पाकिस्तान सीटीडी के प्रवक्ता ने इसे महत्वपूर्ण प्रगति बताया है. साथ ही उनका कहना है कि प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का सरगना हाफिज सईद पहले ही टेरर फंडिंग मामले में जेल मे हैं.

यह कार्रवाई एशिया पैसिफिक ग्रुप (APG) के हाल ही में दिए बयान के बाद हुई है. जिसमें उनका मानना है कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सिक्युरिटी काउंसिल रेजॉल्यूशन 1267 लागू करने के लिए सही कदम नहीं उठा रहा है. मालूम हो कि एशिया पैसिफिक ग्रुप FATF से जुड़ा एक संगठन है.

APG ने यह भी कहा था कि पाकिस्तान ने हाफिज सईद मसूद अजहर और लश्कर-ए-तैयबा, जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया है, जबकी ये आतंकी संगठन संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित हैं.

ये भी पढ़ें: चेन्नई एयरपोर्ट से जब्त की गईं अजगर, छिपकलियों की विदेशी प्रजातियां