पाकिस्‍तानी गृहमंत्री की जुबां पर आया सच, बोले- हमें कोई सीरियसली नहीं लेता, मुल्‍क बर्बाद हो गया

पाकिस्‍तानी गृहमंत्री ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने कहा कि दुनिया अब पाकिस्‍तान की नहीं, भारत की सुनती है.

पाकिस्‍तान के गृहमंत्री ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने आखिरकार मान लिया है कि उनका मुल्‍क बर्बाद हो गया है. शाह ने पाकिस्‍तानी चैनल के साथ इंटरव्‍यू में कहा कि दुनिया अब पाकिस्‍तान की नहीं, भारत की सुनती है. पाकिस्‍तानी गृहमंत्री  ने यह भी कहा कि इस्‍लामाबाद को कश्‍मीर के मुद्दे पर इंटरनेशनल कम्‍युनिटी का साथ नहीं मिला.

बतौर जासूस काम कर चुके ब्रिगेडियर शाह ने कहा, “लोग हमारा भरोसा नहीं करते… इंटरनेशनल कम्‍युनिटी में. हम कहते हैं कि वो (भारत) कर्फ्यू लगा रहे हैं और जम्‍मू-कश्‍मीर के लोगों को दवाइयां नहीं दे रहे. लोग हमारा यकीन नहीं करते, उनका करते हैं. सत्‍ताधारी एलीट लोगों ने देश को बर्बाद कर दिया है. नाम बर्बाद कर दिया है. लोग हमें एक गंभीर देश नहीं मानते.”

पाकिस्‍तानी गृहमंत्री ने जनरल जिया उल हक, परवेज मुशर्रफ, बेनजीर भुट्टो से लेकर इमरान खान तक को पाकिस्‍तान के हालात के लिए जिम्‍मेवार ठहराया. लश्‍कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद को इमरान के मंत्री ने इंटरव्‍यू में ‘साहेब’ कहते हुए उसका बचाव किया.

पाकिस्‍तान के गृहमंत्री का बयान ऐसे समय आया है, जब पाकिस्‍तान को संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में बड़ा झटका लगा है. संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी उसे द्विपक्षीय रूप से कश्‍मीर मुद्दा सुलझाने को कहा है.

भारत ने UNHRC में मंगलवार को कश्मीर राग अलापने के लिए कहा कि मानवाधिकारों पर एक खराब रिकॉर्ड रखने वाले देश ने झूठी और मनगढ़ंत कहानी पेश की है. भारत ने कहा कि नई दिल्ली अपने आंतरिक मामलों में किसी भी विदेशी हस्तक्षेप को स्वीकार नहीं करेगा. भारत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का केंद्र है, जिसने भारत के साथ एक वैकल्पिक कूटनीति के रूप में सीमापार आतंकवाद को बढ़ावा दिया है.

पाकिस्‍तान का दावा है कि उसने UNHRC में जो ज्‍वॉइंट स्‍टेटमेंट सबमिट किया है, उसे कुछ 60 देशों का समर्थन मिला है. हालांकि ये देश कौन हैं, इसका खुलासा उसने नहीं किया है. पाकिस्‍तानी डेलिगेशन के एक सदस्‍य ने कहा था कि इन देशों की सूची भारत को सौंपी जाएगी, मगर ऐसा हुआ नहीं.

ये भी पढ़ें

खुफिया एजेंसियों का खुलासा- कोड वर्ड्स के जरिए कश्मीर के आतंकियों से संपर्क साध रही PAK सेना

पाकिस्तान का फिर ‘थर्ड पार्टी’ राग शुरू, विदेश मंत्री बोले- भारत के साथ द्विपक्षीय वार्ता संभव नहीं