‘हमें मूर्खों के स्वर्ग में नहीं रहना चाहिए’, पाक के विदेश मंत्री ने ही दिखाया इमरान खान को आईना

पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बकरीद पर पीओके में कहा, 'जज्बात उभारना बहुत आसान है, मुझे दो मिनट लगेंगे.'

मुजफ्फराबाद: जम्‍मू कश्‍मीर से आर्टिकल 370 खत्‍म किए जाने के भारत सरकार के फैसले से बौखलाए पाकिस्‍तान को आखिरकार हकीकत समझ में आ ही गई. पाकिस्‍तान को उसकी हैसियत का आईना किसी और ने नहीं बल्कि इमरान खान के अपने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दिखाया है.

बकरीद के मौके पर शाह महमूद कुरैशी सोमवार को पाकिस्‍तान अधिकृत कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद पहुंचे. यहां उन्होंने स्थानीय लोगों के साथ नमाज पढ़ी और बकरीद मनाई. इस अवसर पर उन्होंने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की. इसी दौरान एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा, ‘देखिए, आप जानते हैं कि दुनिया के उनके (भारत) साथ अपने हित हैं. मैंने आपसे पहले ही इशारों-इशारों में कह दिया कि वहां पर 1 अरब का बाजार है. संयुक्त राष्ट्र में कोई हार लेकर नहीं खड़ा है. इसके लिए हमें खासा संघर्ष करना पड़ेगा.’

शाह महमूद कुरैशी ने आगे कहा कि हमें मूर्खों के स्वर्ग में नहीं रहना चाहिए. पाकिस्तानी और कश्मीरियों को यह जानना चाहिए कि कोई आपके लिए नहीं खड़ा है. आपको जद्दोजहद का आगाज करना होगा. हम उम्माह और इस्लाम की बात करते हैं, लेकिन उन्होंने वहां पर काफी निवेश कर रखा है और उनके अपने फायदे हैं.

पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री ने आगे कहा, ‘जज्बात उभारना बहुत आसान है, मुझे दो मिनट लगेंगे. 35-36 साल से सियासत कर रहा हूं, यह मेरे लिए बाएं हाथ का काम है. जज्बात उभारना आसान है और ऐतराज जताना उससे भी आसान है. लेकिन मसले को आगे की तरफ ले जाना कठिन काम है.’

कश्‍मीर के मसले पर इमरान खान ने हाल ही में दुनिया भर से गुहार लगाई थी, लेकिन वैश्विक स्‍तर पर उसे किसी का साथ नहीं मिल रहा है.