अमेरिका और ईरान के बीच तनाव कम करने की कोशिश में माइक पोम्पियो से मिले शाह महमूद कुरैशी

यात्रा का मकसद अमेरिका-ईरान के बीच तनाव को कम करने पर बातचीत करना है. कुरैशी ने मिडिल इस्ट में बढ़ रहे तनाव पर बातचीत के लिए बुधवार को अमेरिका की तीन दिवसीय यात्रा की शुरुआत की थी.

America mike pompeo Pakistan shah mehmood qureshi, अमेरिका और ईरान के बीच तनाव कम करने की कोशिश में माइक पोम्पियो से मिले शाह महमूद कुरैशी

अमेरिका के दौरे पर गए पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से मुलाकात की, इस दौरान पोम्पियो ने अफगान संघर्ष को हल करने में मदद करने के लिए एक राजनीतिक और शांतिपूर्ण समाधान के लिए इस्लामाबाद के प्रयासों की सराहना की. कुरैशी अमेरिका-ईरान तनाव को कम करने के उद्देश्य से अपनी तीन देशों की यात्रा के अंतिम चरण में हैं, जैसा कि प्रधान मंत्री इमरान खान ने निर्देश दिया है.

द न्यूज इंटरनेशनल के मुताबिक, अफगान शांति प्रक्रिया के अलावा, कुरैशी और पोम्पियो ने शुक्रवार को पाकिस्तान-अमेरिका द्विपक्षीय सहयोग और क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति से संबंधित मामलों पर भी चर्चा की.

कुरैशी जिन्होंने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद भी अमेरिका से अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण में लगे रहने का आग्रह किया था, ने शीर्ष अमेरिकी राजनयिक को बताया कि पाकिस्तान अफगान संघर्ष के राजनीतिक समाधान के लिए अपने प्रयासों को जारी रखेगा. उन्होंने कहा, “पाकिस्तान ईमानदारी के साथ अफगान शांति प्रक्रिया के लिए इस संयुक्त जिम्मेदारी को पूरा कर रहा है.”

जवाब में, पोम्पियो ने अफगान सुलह और शांति प्रक्रिया और एक शांतिपूर्ण पड़ोस के लिए पाकिस्तान के ‘ईमानदार प्रयासों’ की सराहना की. वार्ता के दौरान, कुरैशी ने पोम्पियो को ईरान और सऊदी अरब की अपनी हालिया यात्राओं के दौरान हुई चर्चाओं के बारे में भी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान शांति और स्थिरता चाहता है और इस क्षेत्र में मौजूदा तनाव को कम करने के लिए अपनी भूमिका निभाने को लेकर प्रतिबद्ध है.

मंत्री ने द्विपक्षीय व्यापार और निवेश को मजबूत करने की जरूरत को भी रेखांकित किया, ताकि प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की व्यापक द्विपक्षीय पाकिस्तान-अमेरिका संबंधों के विजन को व्यावहारिक रूप दिया जा सके. ईरान और सऊदी अरब की यात्रा के बाद कुरैशी की तीन देशों की यात्रा में अमेरिका अंतिम पड़ाव था.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में ‘एंटी नेशनल’ फेसबुक पोस्ट करने पर गिरफ्तार हुआ पत्रकार

Related Posts