पुलवामा पर चौतरफा घिरे पाकिस्‍तान ने जैश ए मोहम्‍मद के हेडक्‍वार्टर, मदरसे और मस्जिद पर कब्‍जा किया

पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव है कि वो अपनी धरती पर पनपने वाले आतंकी संगठनों पर सख्त कार्रवाई करे.

लाहौर। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के कड़े तेवर और अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर अलग-थलग पड़ने के बाद पाकिस्‍तान दबाव में आता दिख रहा है. शुक्रवार को पाकिस्तान ने बहावलपुर स्थित जैश ए मोहम्‍मद के हेडक्‍वार्टर, एक मस्जिद और एक मदरसे पर कब्‍जा कर लिया. पुलवामा हमले की जिम्‍मेदारी जैश ए मोहम्‍मद ने ही ली है. इस संगठन का सरगना मसदू अजहर है, जो कि पठानकोट से लेकर संसद हमले तक का मास्‍टरमाइंड है.

पाकिस्‍तान की पंजाब सरकार ने जैश ए मोहम्‍मद के खिलाफ यह एक्‍शन इस्लामाबाद में राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (NSC) की एक महत्वपूर्ण बैठक के बाद लिया. इस बैठक में ये निर्णय लिया गया था कि समाज से आतंकवाद को जड़ से मिटाना है. ये मीटिंग गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई थी. साथ ही इस मीटिंग में जमात-उद-दावा (JUD) और फलाह-ए-इंसानियत पर भी प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया था. ये दोनों आउटफिट लश्कर ए तैयबा के ही सहयोगी संगठन हैं. मुंबई में 26/11 हमले के पीछे लश्‍कर का ही हाथ था.


जैश के खिलाफ ये कार्रवाई पंजाब राज्य के बहावलपुर में की गई है. बहावलपुर लाहौर से 400 किलोमीटर की दूरी पर है. पाकिस्तान के आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता ने जानकारी कि मदरसों में 600 छात्र और 70 अध्यापक हैं, पुलिस उनको संरक्षण और सुरक्षा प्रदान कर रही है. उन्होंने आगे बताया कि पंजाब सरकार ने बहावलपुर में मदरसातुल साबिर और जामा-ए-मस्जिद सुभानल्ला में एक परिसर को नियंत्रण में ले लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *