न्‍यूक्लियर टेक्‍नोलॉजी पाने को सारी हदें पार कर रहा PAK, जर्मनी ने एक्‍सपोज किया प्‍लान

पाकिस्‍तान के पास अभी 130 से 140 परमाणु हथियार हैं. वह 2025 तक इनकी संख्‍या बढ़ाकर 250 करना चाहता है.

जर्मनी की सरकार ने पाकिस्‍तान (Pakistan) के नापाक मंसूबों का पर्दाफाश किया है. पड़ोसी मुल्‍क खतरनाक हथियार बनाने के लिए परमाणु तकनीक (Nuclear Technology) हासिल करने की फिराक में है. हाल के कुछ सालों में यह तकनीक पाने को उसने अवैध तरीकों के इस्‍तेमाल से भी परहेज नहीं किया है. हिंदुस्‍तान टाइम्‍स में छपी रिपोर्ट के अनुसार, जर्मन सरकार के दस्‍तावेज दिखाते हैं कि पाकिस्‍तान न्‍यूक्लियर, बायोलॉजिकल और केमिकल हथियार बनाने की कोशिश में है.

जर्मनी की सरकार ने वहां की राजनीतिक पार्टी डाई लिंकी (लेफ्ट पार्टी) के कई सांसदों को यह जानकारी दी है. इसमें जर्मनी की घरेलू खुफिया सेवा के अधिकारी की चिंताएं रखी गई हैं. 2018 की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि जर्मनी और अन्‍य पश्चिमी देशों से अवैध रूप से न्‍यूक्लियर गुड्स हासिल करने की पाकिस्‍तानी कोशिशें ‘बेहद बढ़’ गई हैं.

लेफ्ट पार्टी के पांच सांसदों ने सरकार से इस बात की जानकारी मांगी थी कि कौन से देश जर्मनी से अवैध रूप से न्‍यूक्लियर गुड्स हासिल करना चाहते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, Pakistan का ऐसे गुड्स पर फोकस है जिन्‍हें Nuclear Technology में इस्‍तेमाल किया जा सके.

रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्‍तान के पास अभी 130 से 140 परमाणु हथियार हैं. वह 2025 तक इनकी संख्‍या बढ़ाकर 250 करना चाहता है. 2016 में लंदन के किंग्‍स कॉलेज की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि पाकिस्‍तान को न्‍यूक्लियर सप्‍लायर्स ग्रुप (NSG) से बाहर रखा जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें

कश्‍मीर पर हर जगह मुंह की खाई, अब अयोध्‍या पर इस्‍लामिक देशों के आगे नाक रगड़ रहा पाकिस्‍तान

‘सीरिया से बदतर था कश्‍मीर का हाल, मरना या भागना ही विकल्‍प था’, ग्‍लोबल मंच पर घाटी की काली कहानी