आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ एक्शन में PAK, टेरर फंडिंग को लेकर 23 मामले दर्ज

पंजाब आतंकवाद निरोधक विभाग ने हाफिज सईद के प्रतिबंधित संगठन के खिलाफ यह कार्रवाई की है.

नई दिल्ली: पाकिस्तान सरकार ने जमाद-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद और उसके तीन अन्य सदस्यों के खिलाफ आतंकवाद के लिए धन उपलब्ध कराने के मामले में मामला दर्ज किया है. पंजाब आतंकवाद निरोधक विभाग ने हाफिज के प्रतिबंधित संगठन के खिलाफ यह कार्रवाई की है.

आतंकवाद निरोधक कानून के तहत पांच प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ लाहौर, गुजरांवाला और मुल्तान में दावातुल इरशाद ट्रस्ट, मोएज बिन जवाल ट्रस्ट, अल अनफाल ट्रस्ट, अल मदीना फाउंडेशन ट्रस्ट और अलहमाद ट्रस्ट के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

चैरिटी के नाम पर आतंक
इन मामलों में जिन्हें नामजद किया गया है, उनमें हाफिज सईद, अब्दुल रहमान मक्की, अमीर हमजा और मुहम्मद याहया अजीज शामिल हैं. इन लोगों पर जो आरोप लगाए गए हैं, उनमें चैरिटी के नाम पर आतंकवाद के लिए वित्तपोषण प्रमुख है.

पाकिस्तान के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट के मुताबिक, हाफिज सईद के खिलाफ 23 मामले दर्ज किए गए हैं. साथ ही 12 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया गया है जिन्होंने 5 संगठनों के जरिए लश्कर-ए-तैयबा के लिए पैसे जुटाए. इन संगठनों में दो प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा(जेयूडी) और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन को भी निशाना बनाया गया है.

‘संपत्तियां कर ली जाएंगी फ्रीज’
पाकिस्तान के अधिकारियों का कहना है कि इन संगठनों और व्यक्तियों की सभी संपत्तियां फ्रीज कर दी जाएंगी और राज्य के कब्जे में ले ली जाएंगी. काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट का कहना है कि यह प्रतिबंध संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के हिसाब से ही लगाए गए हैं.

बता दें कि आतंकी हाफिज सईद कई आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड रहा है. साल 2008 में मुंबई पर 26/11 हमले का मास्टर माइंड भी आतंकी हाफिज सईद ही था. मुंबई आतंकी हमले में करीब 237 लोगों मारे गए जबकि 300 लोग घायल हो गए थे. देश के इतिहास में 26/11 मुंबई हमला सबसे भयावह आतंकी हमला था जिसने सभी की रूह को कंपा दिया था.

ये भी पढ़ें-

पटना या अमेरिका? कहां जा रहे राहुल गांधी, इस्‍तीफे की घोषणा के बाद खड़ा हुआ नया सस्‍पेंस

डाउन हुआ फेसबुक, वाट्सएप और इंस्टाग्राम, दुनिया भर में यूजर्स को आ रही ये दिक्कत

उद्योगपति बी.के. बिड़ला ने दुनिया को कहा अलविदा