कराची-रावलपिंडी एक्सप्रेस में सिलेंडर फटने से लगी भीषण आग, 73 की मौत

अधिकारियों ने संभावना जताई है कि यह हादसा इतना भयावह था कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.
Fire on Karachi Rawalpindi Express, कराची-रावलपिंडी एक्सप्रेस में सिलेंडर फटने से लगी भीषण आग, 73 की मौत

पाकिस्तान के पूर्वी पंजाब इलाके में गुरुवार को कराची से रावलपिंडी जा रही एक्सप्रेस ट्रेन में आग लग गई. इस हादसे में मृतकों की संख्या 73 हो गई है, जबकि कई लोग घायल हुए हैं.

एक रेलवे अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि लियाकतपुर के शहरी इलाके के पास पैसेंजर ट्रेन तेजगाम में आग लग गई. अधिकारी ने कहा कि ट्रेन में सवार कोई यात्री अपने साथ गैस सिलेंडर लेकर यात्रा कर रहा था. सिलेंडर में विस्फोट होने के चलते यह हादसा हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऐसा बताया जा रहा है कि जब यह हादसा हुआ, उस समय यात्री ट्रेन में नाश्ता बना रहे थे. जिस कोच में नाश्ता बनाया जा रहा था, उस डिब्बे से जुड़े दोनों कोचों को भी आग ने अपनी चपेल में लिया है.

हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस और राहत बचाव की टीम मौके पर पहुंची. उन्होंने ट्रेन में फंसे लोगों को बाहर निकाला. इसके साथ ही हादसे का शिकार हुए लोगों को बिना देरी के अस्पताल पहुंचाया गया. आग में झुलसे कई लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है.

वहीं अधिकारियों ने संभावना जताई है कि यह हादसा इतना भयावह था कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

जियो न्यूज के सूत्रों के हवाले से आईएएनएस ने लिखा, दस शवों की शिनाख्त कर ली गई है जबकि कई शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है.

जिला बचाव सेवा के प्रमुख बकीर हुसैन ने कहा कि शवों की शिनाख्त डीएनए से की जाएगी. आग ने ट्रेन के तीन डिब्बों को तबाह कर दिया जिनमें दो इकोनॉमी श्रेणी के डिब्बे और एक बिजनेस श्रेणी शामिल थे.

पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने कहा, “खाना पकाने के दो स्टोव फट गए. खाना पकाया जा रहा था, पास में खाना बनाने का तेल था जिससे आग और भड़क गई.”

उन्होंने कहा, “अधिकतर मौतें ट्रेन में से कूदने के चलते हुईं हैं. जिस डिब्बे में यह दुर्घटना हुई उसमें ‘तबलीगी जमात’ के लोग यात्रा कर रहे थे. आग से बोगियों को बहुत नुकसान पहुंचा और वे शेष ट्रेन से अलग हो गईं.” रशीद ने कहा कि आग पर काबू पा लिया गया है और अब इसे ठंडा करने का प्रयास जारी है.

प्रधानमंत्री इमरान खान ने घटना के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए अधिकारियों को घायलों के लिए सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है.

यह इस साल पाकिस्तान में दूसरी बड़ी रेल दुर्घटना है. जुलाई में, लाहौर से क्वेटा जा रही अकबर बुगती एक्सप्रेस के पंजाब प्रांत के सदीकाबाद तहसील में वल्हार रेलवे स्टेशन पर एक मालगाड़ी से टकराने पर 24 लोगों की मौत हो गई थी.

 

ये भी पढ़ें-   ‘जो हमसे युद्ध नहीं जीत सकते वो हमारी एकता को दे रहे चुनौती’, लौहपुरुष की 144वीं जयंती पर बोले पीएम

इंदिरा गांधी की 35वीं बरसी, पाकिस्‍तान के दो टुकड़े करने वाली ‘आयरन लेडी’

Related Posts