सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस से मिले इमरान खान, फिर रोया कश्‍मीर का रोना

पाकिस्‍तान के अखबार द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि सऊदी अरब के डेलीगेशन ने पाकिस्‍तान को दो प्रमुख सलाह दी थीं.

इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान ने गुरुवार को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान के साथ मुलाकात की. इस दौरान इमरान खान ने जम्‍मू-कश्‍मीर के हालात पर क्राउन प्रिंस के साथ लंबी बातचीत की.

मुलाकात के दौरान इमरान खान ने सऊदी अरब के तेल कुंओं पर हुए हमले की कड़े शब्‍दों में निंदा भी की. इसके अलावा सऊदी अरब और पाकिस्‍तान के बीच आर्थिक संबंधों को और बेहतर बनाने के मुद्दे पर भी बात हुई.

इमरान खान के इस दौरे से पहले 3 सितंबर को सऊदी अरब का डेलीगेशन भी पाकिस्‍तान गया था. इस दौरान दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल ने कश्‍मीर पर लंबी चर्चा की थी.

पाकिस्‍तान के अखबार द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि सऊदी अरब के डेलीगेशन ने पाकिस्‍तान को दो प्रमुख सलाह दी थीं. सऊदी अरब के डेलीगेशन के पाकिस्‍तान से कहा था कि उसे जल्‍द से जल्‍द भारत के साथ बैक चैनल बातचीत शुरू करनी चाहिए. इसके अलावा सऊदी अरब ने पाकिस्‍तान से कहा था कि उसे पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में सोच समझकर टिप्‍पणी करनी चाहिए.

इन दो बातों से एकदम स्‍पष्‍ट है कि सऊदी अरब पाकिस्‍तान को क्‍या संदेश देना चाहता है? हालांकि, सऊदी अरब यात्रा के दौरान इमरान खान और क्राउन प्रिंस के बीच क्‍या बातचीत हुई, इस बारे में अभी जानकारी नहीं निकलकर सामने आ पाई है.

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में भाषण से ऐन पहले इमरान खान का सऊदी अरब जाना बेहद अहम माना जा रहा है. सऊदी अरब के भारत और पाकिस्‍तान दोनों के साथ बेहद अच्‍छे रिश्‍ते हैं.

अब देखना होगा कि इमरान खान इस यात्रा के बाद कश्‍मीर पर कुछ नरम पड़ते हैं या उनका प्रोपेगेंडा प्रोग्राम उसी तरह से चलता रहेगा?