क्‍या है कश्‍मीर में ‘इजरायली मॉडल’ अपनाने का प्रस्‍ताव? जिसपर तिलमिला गए इमरान खान

न्यूयॉर्क में भारतीय महावाणिज्य दूत संदीप चक्रवर्ती ने कश्मीरी हिंदुओं के एक कार्यक्रम में कहा था कि कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए भारत को कश्मीर में 'इजरायल मॉडल' अपनाना चाहिए.

अमेरिका में भारत के एक शीर्ष राजनयिक के बयान पर पाकिस्तान तिलमिला गया है. दरअसल न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूत संदीप चक्रवर्ती ने एक कार्यक्रम के दौरान जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए भारत को कश्मीर में ‘इजरायल मॉडल’ अपनाना चाहिए और कश्मीरी पंडितों को वहां आबाद करना चाहिए.

संदीप चक्रवर्ती के इस बयान पर पाकिस्तान तिलमिला गया है. इमरान ने इस बयान पर बुधवार को अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि ‘यह कश्मीर में भारतीय हुकूमत की फासीवादी मानसिकता को दिखा रहा है.’

इमरान ने एक ट्वीट में कहा, “कश्मीर की घेराबंदी किए आज सौ से ज्यादा दिन हो चुके हैं. वहां लोगों को गंभीर स्थितियों का सामना करना पड़ रहा है. उनके मानवाधिकारों को कुचला जा रहा है. लेकिन, दुनिया के ताकतवर देश अपने व्यावसायिक हितों के कारण इसे लेकर चुप्पी साधे हुए हैं.”

संदीप चक्रवर्ती ने न्यूयॉर्क में कश्मीरी पंडितों के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. इस दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को हटाने पर भी बात की. कार्यक्रम में उन्होंने कहा, “हमें तर्क के साथ यह समझना होगा कि यह (अनुच्छेद-370 को रद्द करना) क्यों किया गया. मुझे लगता है कि किसी ने यहूदी मुद्दे के बारे में बात की है. उन्होंने (यहूदियों ने) अपनी मातृभूमि के बाहर अपनी संस्कृति को 2,000 वर्षों तक जीवित रखा और वे वहां वापस गए. मुझे लगता है कि हम सभी को कश्मीरी संस्कृति को जीवित रखना होगा. कश्मीरी संस्कृति भारतीय संस्कृति है, यह हिंदू संस्कृति है.”

उन्होंने कहा कि “कश्मीरी पंडित फिर से कश्मीर लौटने में सक्षम होंगे और उन्हें वहां सुरक्षा मिलेगी. हमारे पास दुनिया में पहले से ही एक मॉडल मौजूद है. मैं नहीं जानता कि हम इसे क्यों नहीं अपनाते. ऐसा मध्यपूर्व में हुआ है. अगर इजरायली लोग ऐसा कर सकते हैं तो हम भी कर सकते हैं.”

ये भी पढ़ें-

बाजवा के कार्यकाल बढ़ाने पर सुप्रीम रोक के बाद पाकिस्तान की सियासत में उठापटक

पाकिस्तान के कानून मंत्री का इस्तीफा, इमरान खान ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

Related Posts