पाकिस्तान: मौलाना का इमरान को विकल्प, इस्तीफा दें या 3 महीने में चुनाव हो

जमीयत उलेमाए इस्लाम-एफ ने ईद मिलादुन्नबी (रविवार-10 नवंबर) के दिन तक सरकार के जवाब का इंतजार करने का फैसला किया है.

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे की मांग के साथ इस्लामाबाद में धरने पर डटे जमीयत उलेमाए इस्लाम-एफ के नेता मौलाना फजलुर रहमान ने सरकार को संदेश भिजवाया है कि या तो इमरान अभी इस्तीफा दें और अगर यह अभी संभव नहीं है तो फिर सरकार तीन महीने में फिर से आम चुनाव कराने पर सहमति दे.

पाकिस्तानी मीडिया ने विपक्षी दल और सरकार के बीच लगातार चल रही बातचीत से संबंद्ध सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है. सूत्रों ने बताया कि मौलाना फजल ने पंजाब विधानसभा के स्पीकर चौधरी परवेज इलाही के जरिए प्रधानमंत्री इमरान खान और सरकार की वार्ता समिति को यह संदेश भिजवाया है.

सूत्रों ने बताया कि मौलाना ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री का इस्तीफा संभव नहीं है तो फिर तीन महीने के अंदर नए सिरे से आम चुनाव कराए जाएं. सरकार के पास यही दो विकल्प हैं, उसे इनमें से ही किसी एक को चुनना पड़ेगा.

उच्चपदस्थ सूत्रों ने बताया कि जमीयत उलेमाए इस्लाम-एफ ने ईद मिलादुन्नबी (रविवार-10 नवंबर) के दिन तक सरकार के जवाब का इंतजार करने का फैसला किया है. इसके बाद के लिए पार्टी ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है. इस पर वे दस नवंबर के बाद अमल करेंगे.

सूत्रों ने बताया कि मौलाना फजल की अगली रणनीति देश के सभी बड़े राजमार्गो को बंद करने की है. सभी प्रांतीय विधानसभाओं और संसद की सीटों से इस्तीफा देने के विकल्प पर भी अमल हो सकता है.

सूत्रों ने कहा कि सरकार ने खुफिया विभाग की सूचनाओं के आधार पर आगे की रणनीति बनानी शुरू कर दी है.