पाकिस्तानी पीएम इमरान ख़ान की नयी चाल, अल्पसंख्यकों को लुभाने के लिए शिव मंदिर का करेंगे दौरा

पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री द्वारा उठाए जा रहे सकारात्मक क़दम का इस्तकबाल किया है.

नई दिल्ली: पाकिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों यानी कि हिंदू समाज के लोगों पर ज़ुल्म के क़िस्से तो बहुत सुने होंगे आपने लेकिन लगता है अब वहां के हालात भी बदल रहे हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान जल्द ही उमरकोट स्थित शिव मंदिर का दौरा करेंगे. इतना ही नहीं इस दौरान वो वहां स्थित हिंदू समुदाय के लोगों को संबोधित करेंगे और पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की रक्षा सुनिश्चित करने का भरोसा देंगे.

पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस सूचना को साझा करते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री द्वारा उठाए जा रहे सकारात्मक क़दम का इस्तकबाल किया है.
एक टीवी कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ‘वजीर-ए-आज़म अब सिंध के एक शिव मंदिर में जा रहे हैं. वहां पर वो हिंदू समुदाय से ख़िताब करते हुए पीएम मोदी को एक संदेश देंगे. मेरे ख़्याल से यह भी एक अच्छी रणनीति है.’

इसके जवाब में वहां मौजूद पैनलिस्ट ने कहा, ‘वो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं इसलिए उनकी जो सोच होगी वो पूरे पाकिस्तान की होगी. अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को अपने साथ शामिल करना एक सकारात्मक क़दम होता है. हमारे यहां एक एक अजीब से रवैया देखने को मिलता है हम भारत के सरकार पर ध्यान केंद्रित करने के बजाए मज़हब पर चले जाते हैं. यह मज़हब का विषय नहीं है यहां रहने वाले हिंदू यहां के हां और वो पाकिस्तान सरकार का समर्थन करते हैं. हिंदुस्तान में भी एक निश्चित आबादी ही मोदी सरकार का समर्थन करती है. तो आप इस मुद्दे का सार्वभौमीकरण न करें. आप देखें कि इसमें दोस्त-दुश्मन कौन हैं और किसको ज़्यादा दोस्त बनाया जा सकता है.’

आप भी वीडियो देखें-

हालांकि पाकिस्तान के इतिहास को देखें तो उनपर भरोसा करने का दिल नहीं होता. पाकिस्तानी आवाम इसे सकारात्मक क़दम मान रही है जबकि भारत को यह एक नई चाल लग रही है.