पाकिस्तान में बदजुबान मंत्री की ‘पद वापसी’, पुलवामा हमले के बाद दिया था हिंदू विरोधी बयान

हसन को हिंदू विरोधी बयानबाजी पर पाकिस्तान में उनकी अपनी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफी पार्टी के सीनियर नेताओं और वहां के अल्पसंख्यक समुदाय से काफी आलोचना सहनी पड़ी थी. सोशल मीडिया यूजर्स ने उनको हटाए जाने तक उनकी आलोचना जारी रखी थी.

जम्मू कश्मीर में पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान में हिंदू विरोधी बयानबाजी के चलते हटाए गए मंत्री फैय्याजुल हसन चौहान की सोमवार को पुराने पद पर ही वापसी हो गई. पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री ने हसन को दोबारा अपना सूचना मंत्री तैनात किया है. नौ महीने पहले हिंदूओं के खिलाफ बयान देने की वजह से उन्हें पद से हटा दिया गया था. इसके लिए उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी.

जियो टीवी में आई खबर के मुताबिक पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री की ओर से जारी अधिसूचना में बताया गया है कि चौहान कॉलोनियों के विकास के अपने मौजूदा विभाग के साथ ही फैय्याजुल हसन चौहान अब सूचना विभाग को भी संभालेंगे.

हसन को हिंदू विरोधी बयानबाजी पर पाकिस्तान में उनकी अपनी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफी पार्टी के सीनियर नेताओं और वहां के अल्पसंख्यक समुदाय से काफी आलोचना सहनी पड़ी थी. सोशल मीडिया यूजर्स ने उनको हटाए जाने तक उनकी आलोचना जारी रखी थी. पुलवामा आतंकी हमले के बाद इसी साल 24 फरवरी को पाकिस्तानी मंत्री फैय्याजुल हसन चौहान ने लोगों को संबोधित करते हुए एक विवादित बयान दिया था.

अधिसूचना के मुताबिक मुख्यमंत्री फैय्याजुल हसन चौहान को पंजाब में सूचना विभाग का प्रांतीय मंत्री नियुक्त कर रहे हैं. इसके अलावा उनके पास कॉलोनियों के विकास का विभाग पहले की तरह ही उनके पास बना रहेगा. अब तक यह मंत्रालय उद्योग मंत्री असलम इकबाल संभाल रहे थे. अपने चुनाव क्षेत्र में बढ़े कामों और व्यस्तता का हवाला देकर उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने कहा था कि वह दो मंत्रालयों के काम के साथ इंसाफ नहीं कर पा रहे.

ये भी पढ़ें –

दिसंबर होगा इमरान सरकार का आखिरी महीना: मौलाना फजल

PAK मंत्री शेख राशिद का दावा- करतारपुर कॉरिडोर के पीछे जनरल बाजवा का दिमाग