कश्मीर पर खीझ निकालने की जल्दबाजी में ट्रोल हो गए पाकिस्तानी सांसद

रहमान मलिक ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान को साझा करते हुए ट्वीट में PM नरेंद्र मोदी को भी टैग किया था.

नई दिल्ली: कश्मीर से विशेष राज्य का दर्ज़ा हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान लगातार इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय बनाने की कोशिश कर रहा है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान समेत वहां के अन्य नेता और कई क्रिकेटर सोशल साइट्स पर कश्मीर को लेकर आए दिन कुछ-न-कुछ बयान देते रहते हैं. इसी बीच पाकिस्तान के पूर्व मंत्री रहमान मलिक ने भारत पर छीटाकशी की जल्दबाजी में कुछ ऐसा कर दिया कि अब उनकी खूब छीछालेदर हो रही है.

आइए विस्तार से समझते हैं. दरअसल राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष ग़ुलाम नबी आज़ाद पिछले हफ़्ते कश्मीर गए थे. इस दौरान अन्य विपक्षी दल के नेता भी मौज़ूद थे लेकिन उन सब को एयरपोर्ट से ही वापस लौटा दिया गया था. जिसके बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि ‘हमें शहर में घुसने नहीं दिया गया लेकिन जम्मू-कश्मीर की हालत भयानक है. हमलोग जब फ्लाईट में थे तो उस दौरान हमारी यात्रियों से बात हुई. उन्होंने जो कुछ कहा वो पत्थर दिल के आंखो में भी आंसू ला देने वाला था.’

पाकिस्तान के सांसद रहमान मलिक ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के इसी बयान को साझा करते हुए लिखा कि ये आपके देश के ही नेता हैं, जो कश्मीर में हो रही हिंसा के बारे में बता रहे हैं. यहां तक भी सब ठीक ही था लेकिन उन्होंने इस ट्वीट को यूनाइटेड नेशन्स (UN) को टैग करने की जगह ऊनो गेम्स (@realUNOgame) को टैग कर दिया.

उन्होंने इस ट्वीट में PM नरेंद्र मोदी को भी टैग किया था. लोगों ने रहमान मलिक की इसी बात पर जमकर ट्रोल कर दिया.

Rehman Malik troll on twitter, कश्मीर पर खीझ निकालने की जल्दबाजी में ट्रोल हो गए पाकिस्तानी सांसद

रहमान मलिक ऊनो गेम खिला रहे

लोगों ने कहा कि सांसद रहमान मलिक को क्या यूनाइटेड नेशन्स (UN) और ऊनो गेम्स (@realUNOgame) के बीच का अंतर भी नहीं पता है क्या. तो किसी ने कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच क्या रहमान मलिक ऊनो गेम खिला रहे हैं. बता दें कि यूनो गेम्स एक मल्टीप्लेयर कार्ड गेम है.

PM मोदी को ट्रंप का साथ

गौरतलब है कि सोमवार को फ्रांस में हो रहे जी-7 शिखर सम्मेलन में PM नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बैठक हुई. PM मोदी ने ट्रंप के सामने साफ कर दिया कि भारत और पाकिस्तान के बीच सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं.

इसके लिए हमें किसी अन्य देश की जरूरत नहीं है. वहीं, PM मोदी की बात का समर्थन करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों से मेरी बातचीत हुई है और पाकिस्तान-भारत के मुद्दे द्विपक्षीय हैं. दोनों देश आपस में बातचीत से मुद्दे सुलझा लेंगे.

ये भी पढ़ें- VIDEO: ईस्टर्न आर्मी कमांड प्रमुख ने दी चेतावनी, ‘समझ ले चीन, ये 1962 वाला भारत नहीं है’

ये भी पढ़ें- आज कैबिनेट की अहम बैठक, हो सकता है जम्मू कश्मीर के लिए स्पेशल पैकेज का ऐलान