‘भारत ने धमकाया इसलिए नहीं आ रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर्स’, पाकिस्‍तानी मंत्री का नया शिगूफा

फवाद चौधरी ने ट्वीट किया, "भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़‍ियों को धमकाया था कि अगर वे पाक दौरे से मना नहीं करते तो IPL से बाहर कर दिए जाएंगे."

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कम से कम 10 खिलाड़ियों ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया है. श्रीलंका को सितम्बर-अक्टूबर में पाकिस्तान दौरे पर सीमित ओवरों की सीरीज खेलनी है. पाकिस्‍तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने इसके पीछे भी भारत को जिम्‍मेदार ठहराया है.

चौधरी ने ट्वीट किया, “जानकार स्‍पोर्ट्स कमेंटेटर्स ने मुझे बताया कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़‍ियों को धमकाया था कि अगर वे पाक दौरे से मना नहीं करते तो IPL से बाहर कर दिए जाएंगे. स्‍पोर्ट्स से स्‍पेस तक ये भारत के ये बेहद घटिया पैंतरे हैं, जिसकी हमें निंदा करनी चाहिए.”

जिन खिलड़ियों ने सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान दौरे से नाम वापस लिया है, उनमें वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, टी-20 कप्तान लसिथ मलिगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज, निरोशन डिकवेला, कुसल परेरा, धनंजय डी सिल्वा, अकिला धनंजय, सुरंगा लकमल, दिनेश चंडीमल शामिल हैं.

श्रीलंका क्रिकेट ने कहा कि खिलाड़ियों को सीमित ओवरों की सीरीज के लिए सुरक्षा प्रबंधों के बारे में बताया गया था और फिर उन्हें इस पर फैसला लेने के लिए कहा गया था. इसके बाद इन खिलाड़ियों ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया.

पाकिस्तान ने श्रीलंका के साथ होने वाली इस घरेलू सीरीज के लिए तारीखों का भी ऐलान कर दिया है. पाकिस्तान और श्रीलंका को कराची के नेशनल स्टेडियम में 27 सितम्बर, 29 सितम्बर और दो अक्टूबर को तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है.

इसके बाद दोनों टीमें लाहौर के गद्याफी स्टेडियम में पांच, सात और नौ अक्टूबर को तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेलेगी. इसके बाद श्रीलंका भी दिसंबर में दो मैचों की विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के लिए पाकिस्तान की मेजबानी करेगी.

ये भी पढ़ें

बीमार है JeM सरगना मसूद अजहर, अब भाई संभालेगा आतंक की दुकान

इमरान खान की पार्टी का पूर्व विधायक जान बचाकर पहुंचा भारत, मांगी शरण