इमरान ने कहा- कश्‍मीर ने बनाया हमें और भारत को जानी दुश्‍मन, न्‍यूक्लियर वॉर विकल्‍प नहीं

इमरान खान ने अमेरिकी चैनल फॉक्‍स न्‍यूज से बातचीत में कहा कि कश्‍मीर मुद्दे की वजह से ही भारत-पाकिस्‍तान अच्‍छे पड़ोसी नहीं बन पाए.

नई दिल्‍ली: कश्‍मीर मुद्दे को लेकर अमेरिकी राष्‍ट्रपति के बयान से दोनों पड़ोसी देशों में चर्चा तेज हो गई है. पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मध्‍यस्‍थता के पक्ष में हैं, जबकि भारत अपने पुराने रुख पर कायम है. खान ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कश्‍मीर मुद्दे की वजह से ही भारत-पाकिस्‍तान अच्‍छे पड़ोसी नहीं बन पाए.

क्‍या भारत-पाकिस्‍तान के बीच न्‍यूक्लियर वॉर हो सकता है?

इमरान खान: न्‍यूक्लियर वॉर कोई विकल्‍प नहीं है. भारत-पाकिस्‍तान के बीच परमाणु हमला दरअसल खुद की तबाही लाने वाला है. क्‍योंकि आप जानते हैं कि हमारे बीच ढाई हजार मील की सीमा है. पिछली फरवरी में कुछ बातें हुई थीं जिससे सीमा पर तनाव बढ़ा है. एक भारतीय विमान को पाकिस्‍तान में मार गिराया गया. इसलिए मैंने राष्‍ट्रपति ट्रंप से पूछा था कि क्‍या वह कोई भूमिका निभा सकते हैं? अमेरिका दुनिया का सबसे ताकतवर देश है. यह इकलौता देश है जो दोनों देशों के बीच मध्‍यस्‍थता कर सकता है, सिर्फ एक मुद्दा है कश्‍मीर. कश्‍मीर ही वह वजह है जिसकी वजह से ये हम एक अच्‍छे पड़ोसी नहीं बन पाए.

भारत ने फौरन ही बयान जारी किया. उन्‍होंने कहा, “हमने प्रेस को दिया गया राष्‍ट्रपति का बयान देखा है जिसमें वह कह रहे है कि वह भारत और पाकिस्‍तान के कहने पर दोनों देशों के बीच मध्‍यस्‍थता को तैयार हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसी कोई पेशकश अमेरिकी राष्‍ट्रपति से नहीं की है. लंबे समय से भारत की यही पोजिशन रही है कि पाकिस्‍तान के साथ हमारे सभी मसले सिर्फ द्विपक्षीय चर्चा के जरिए सुलझाए जाएंगे.”

इमरान खान: द्विपक्षीय चर्चा से कभी मसले नहीं सुलझेंगे. एक मौका ऐसा था जब हम जनरल (परवेज) मुशर्रफ और प्रधानमंत्री (अटल बिहारी) वाजपेयी के समय करीब आए थे. मुझे लगता है कि भारत को बातचीत करनी चाहिए. अमेरिका अहम भूमिका निभा सकता है. ट्रंप अहम रोल अदा कर सकते हैं. हम 1.3 बिलियन लोगों की बात कर रहे हैं. कल्‍पना कीजिए कि अगर वह मुद्दा सुलझ जाता है तो कितनी शांति होगी.”

देखें Video…

ये भी पढ़ें

प्रेस कॉफ्रेंस में कश्‍मीर पर लंबी-लंबी फेंक गए डोनाल्‍ड ट्रंप, व्‍हाइट हाउस के बयान में जिक्र तक नहीं

ट्रंप के कश्‍मीर मध्‍यस्‍थता वाले बयान पर कांग्रेस का संसद में हंगामा, विदेश मंत्री बोले- हमने ऐसा कभी कहा नहीं