पाकिस्तानी घुसपैठियों को पीएम इमरान ने LoC पार करने से रोका, क्या डर गए नियाज़ी?

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इस तरह के प्रयास करने वाले सभी आतंकियों से संयमित रहने को कहा है.
PM Imran Khan advises AJK people, पाकिस्तानी घुसपैठियों को पीएम इमरान ने LoC पार करने से रोका, क्या डर गए नियाज़ी?

जम्मू- कश्मीर से विशेष राज्य का दर्ज़ा छीने जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. वहीं LoC के ज़रिए पाकिस्तानी घुसपैठिए लगातार भारत में घुसने की कोशिश कर रहा है. इसी क्रम में पाकिस्तान की तरफ से सीज़फायर उल्लंघन की घटनाएं भी काफी बढ़ गई है.

भारतीय सेना के आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में 2 अक्टूबर तक 2,225 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. यह आंकड़ा नौ महीनों के दौरान पांच सालों में सबसे ज्यादा है. आंकड़े इस बात की तस्दीक करती है कि पाकिस्तान की तरफ से लगातार भारत में घुसपैठ करने की कोशिश हो रही है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इस तरह के प्रयास करने वाले सभी आतंकियों से संयमित रहने को कहा है. इमरान खान ने कहा कि अगर कोई सीमा पार करता है तो भारत को बॉर्डर पर जवाबी कार्रवाई करने का बहाना मिल जाता है.

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘मैं समझ सकता हूं कि आज़ाद जम्मू-कश्मीर के लोगों पीड़ा में हैं. भारत प्रशासित कश्मीर में पिछले दो महीनों से अमानवीय कर्फ्यू लगा हुआ है. इसके बावजूद अगर आपमें से कोई वहां के लोगों की मदद के लिए जाता है तो यह भारत द्वारा पाकिस्तान पर लगाए गए आरोप को सही साबित करने वाला होगा.’

उन्होंने लिखा, ‘कश्मीरियों द्वारा क्रूर भारत के रवैये का विरोध करने को वहां की सरकार ‘इस्लामिक आंतकवाद’ का नाम देकर असल मुद्दों से भटका देती है.’

ज़ाहिर है जम्मू और कश्मीर से दो महीने पहले अनुच्छेद 370 हटाया गया था.  घाटी में धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं. 2 अक्टूबर को कई नजरबंद नेताओं को रिहा भी किया गया है. बताया जा रहा है कि हालात जैसे-जैसे सामान्य होता जाएगा नज़रबंद अन्य नेताओं को भी छोड़ दिया जाएगा.

Related Posts