गौरवशाली संबंधों को याद कर पीएम मोदी ने भूटान को दी ये सौगातें, जानें सिर्फ 7 पॉइंट्स में

दो दिवसीय भूटान दौरे के पहले दिन पीएम मोदी ने भूटान के लोगों के प्रति भारत की जिम्मेदारी याद करते हुए दी सौगातें, सिर्फ 7 पॉइंट्स में जानें क्या था भाषण में खास.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय भूटान दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने भूटान की राजधानी थिम्पू में लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने भूटान को कई सौगातें देते हुए भारत के भूटान से संबंधों पर अपने विचार साझा किए. उनके संबोधन में क्या था खास जानें सिर्फ 7 पॉइंट्स में…

  1. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि SAARC करेंसी स्वैप फ्रेमवर्क के तहत भूटान के लिए करेंसी स्वैप की सीमा बढ़ाने के लिए हमारा नजरिया सकारात्मक है. इस बीच, विदेशी मुद्रा की आवश्यकता को पूरा करने के लिए स्टैंडबाय स्वैप व्यवस्था के तहत अतिरिक्त 100 मिलियन डॉलर भूटान को उपलब्ध होंगे.
  2. भूटान की राजधानी थिम्पू में पीएम मोदी ने कहा कि भूटान के सामान्य लोगों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत से एलपीजी की आपूर्ति 700 से बढ़ाकर 1000 मीट्रिक टन प्रति माह की जा रही है. इससे clean fuel गांवों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी.
  3. यह भारत का सौभाग्य है कि हम भूटान के विकास में प्रमुख भागीदार हैं. भूटान की पंचवर्षीय योजनाओं में भारत का सहयोग आपकी इच्छाओं और प्राथमिकताओं के आधार पर आगे भी जारी रहेगा.
  4. उन्होंने कहा, 130 करोड़ भारतीयों के दिलों में भूटान एक विशेष स्थान रखता है. मेरे पिछले कार्यकाल के दौरान, प्रधानमंत्री के रूप में मेरी पहली यात्रा के लिए भूटान का चुनाव स्वाभाविक था. इस बार भी, अपने दूसरे कार्यकाल के शुरू में ही भूटान आकर मैं बहुत खुश हूं.
  5. स्पेस टेक्नोलॉजी के उपयोग से भूटान के विकास में तेजी लाने के लिए भारत प्रतिबद्ध है. हमने आज साउथ एशिया सेटेलाइट के अर्थ स्टेशन का उद्घाटन किया है. यह भूटान में कम्युनिकेशन, पब्लिक ब्रॉडकास्टिंग और आपदा प्रबंधन के कवरेज को बढ़ाएगा.
  6. मुझे बहुत खुशी है कि आज हमने भूटान में RuPay कार्ड को लॉन्च किया है. इससे डिजिटल भुगतान, और व्यापार और पर्यटन में हमारे संबंध और बढ़ेंगे. हमारी साझा आध्यात्मिक विरासत और मजबूत लोगों से लोगों का संबंध हमारे संबंधों की जान हैं.
  7. भारत-भूटान संबंधों का इतिहास जितना गौरवशाली है, उतना ही आशाजनक भविष्य भी है. मुझे विश्वास है कि भारत और भूटान दुनिया में दो देशों के बीच संबंधों का एक अनूठा मॉडल रहेंगे.

ये भी पढ़ें: दूसरी शादी करने से रोका तो 75 साल के बुजुर्ग ने कर ली आत्महत्या