मंदी की आशंका के बीच बोले पीएम मोदी- भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की जड़ें मजबूत

पीएम मोदी ने कहा कि 'भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की जड़ें मजबूत हैं. हम अगले पांच साल में 5 ट्रिलियन की अर्थव्‍यवस्‍था बनने के लक्ष्‍य पर काम कर रहे हैं."

वैश्विक स्‍तर पर मंदी की आशंकाओं के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था की जड़ें मजबूत हैं. उन्‍होंने UAE के अखबार खलीज़ टाइम्‍स से इंटरव्‍यू में यह बात कही. पीएम मोदी ने कहा कि ‘भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की जड़ें मजबूत हैं. हम अगले पांच साल में 5 ट्रिलियन की अर्थव्‍यवस्‍था बनने के लक्ष्‍य पर काम कर रहे हैं.”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “हम 1.3 बिलियन भारतीयों के लिए काम करते रहेंगे. हमने पिछले पांच साल में जमीन पर बहुत काम किया है. साथ ही साथ, भारत ग्‍लोबल स्‍टेज पर हमारे ग्रह को और शांतिपूर्ण, सम्‍पन्‍न बनाने के लिए काम करता रहूंगा.”

मंदी से निपटने को सरकार तैयार

देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की दिशा में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को महत्‍वपूर्ण ऐलान किए हैं. इन कदमों से डॉलर के मुकाबले देसी करेंसी रुपये में रिकवरी आई और अल्पावधि में रुपये में और सुधार देखने को मिल सकता है, लेकिन वैश्विक अनिश्चिता के माहौल में लंबी अवधि में गिरावट की संभावना बनी हुई है.

अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत मिलने और अमेरिकी डॉलर के मजबूत होने से रुपये पर दबाव बना रह सकता है. बाजार विश्लेषकों की माने तो मौजूदा घरेलू और वैश्विक परिस्थितियों को देखते हुए लंबी अवधि में रुपये में कमजोरी आने की संभावना है और देसी करेंसी 74 रुपये प्रति डॉलर के मनोवैज्ञानिक स्तर को तोड़ सकता है.

बजट में की गई घोषणाओं के बाद परिस्थितियां बदल गईं और विदेशी निवेशक अपने पैसे निकालने लगे. इस साल जून में व्यापार घाटा पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले घटकर 15.28 अरब डॉलर रहा. पिछले साल जून में देश का व्यापार घाटा 16.60 अरब डॉलर था. मगर निर्यात और आयात दोनों में गिरावट आने से देशी अर्थव्यस्था की सेहत को लेकर आशंका जताई जाने लगी और नीति निमार्ता भी मानने लगे हैं कि अर्थव्यवस्था से सेहत खराब है.

ये भी पढ़ें

भारत की इकॉनमी 300 सालों में सबसे मजबूत, मंदी की आहट के बीच बोले नारायण मूर्ति

2020 तक होगा BS IV गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन, पढ़ें ऐसी ही 10 सौगातें जिनसे आपको है ‘सीधा मतलब’