US के बाद अब Brazil के राष्ट्रपति की WHO को धमकी- पक्षपाती रवैया नहीं छोड़ा तो तोड़ लेंगे संबंध

बोल्सोनारों ने ऐसा WHO की उस चेतावनी के बाद कहा है जिसमें लैटिन अमेरिकी सरकारों को कोरोनावायरस (Coronavirus) के प्रसार को धीमा करने से पहले लॉकडाउन खोलने के बाद के जोखिमों को लेकर चेतावनी दी गई थी.
President Jair Bolsonaro threatens to pull Brazil from WHO, US के बाद अब Brazil के राष्ट्रपति की WHO को धमकी- पक्षपाती रवैया नहीं छोड़ा तो तोड़ लेंगे संबंध

अमेरिका (America) के WHO से संबंध खत्म करने के बाद ब्राजील (Brazil) ने भी विश्व स्वास्थ्य संगठन से संबंध तोड़ने की धमकी दी है. ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) ने भी अमेरिकी की तरह ही विश्व स्वास्थ्य संगठन पर पक्षपाती और संस्था का राजनीतिकरण होने का आरोप लगाया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

बोल्सोनारों ने ऐसा WHO की उस चेतावनी के बाद कहा है जिसमें लैटिन अमेरिकी सरकारों को कोरोनावायरस के प्रसार को धीमा करने से पहले लॉकडाउन खोलने के बाद जोखिम को लेकर चेतावनी दी गई थी. डब्ल्यूएचओ की प्रवक्ता मार्गरेट हैरिस ने जिनेवा में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “महामारी का लैटिन अमेरिका में प्रकोप गहरा है.

हम भी जल्द हो सकते हैं अलग

ब्राजील के राष्ट्रपति ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि अमेरिका ने उससे (WHO) किनारा कर लिया, हम भी इस मामले को नजदीक से देख रहे हैं. बोल्सोनारो ने कहा है कि WHO अगर बिना किसी पक्षपात के आगे काम करता है तो ठीक है वरना हम भी जल्द ही संगठन से अलग होने का फैसला कर सकते हैं.

बोल्सोनारो ने आरोप लगाया कि ये अकारण ही नहीं हो सकता कि अमेरिकी के फंडिंग रोकने के बाद WHO ने कोरोनावायरस के इलाज के लिए हाइड्रोक्लोरोक्वीन के परीक्षण के निर्णय में बदलाव कर दिया.

ब्राजील में मौतों का आंकड़ा बढ़ा

बोल्सोनारो की धमकी उसी दिन आई जब ब्राजील ने एक दिन में 1,005 मौतें दर्ज कीं, जो कि एक नया रिकॉर्ड था. वर्तमान में कोविड-19 मामलों में ब्राजील दुनिया में दूसरे नंबर पर है और मौतों के मामले में तीसरे नंबर पर है. शनिवार की सुबह तक यहां 34 हजार से अधिक मौतें हो चुकी थीं और यहां मामलों की कुल संख्या 6 लाख 14 हजार 941 हो चुकी थी.

लॉकडाउन खोलने पर बोल्सोनारो ने दिया ये तर्क

बोल्सोनारों ने लॉकडाउन खोलने खोलने के पीछे तर्क दिया कि आर्थिक लागत से सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र के जोखिम कम होते हैं. लैटिन अमेरिका के सबसे अधिक आबादी वाले देश, ब्राजील और मैक्सिको में कोरोना मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. हालांकि पेरू, कोलंबिया, चिली और बोलीविया जैसे देशों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts