रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने लगाई स्टेट इमरजेंसी, साइबेरिया के पॉवर प्लांट से 20 हजार टन डीजल लीक

प्लांट से लीक हुआ डीजल बहकर अंबरनाया नदी में पहुंचा. अंबरनाया नदी का पानी एक झील से मिलता है, जिसका पानी दूसरी नदियों से होते हुए आर्कटिक ओशियन तक पहुंचता है.
vladimir putin declare emergency, रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने लगाई स्टेट इमरजेंसी, साइबेरिया के पॉवर प्लांट से 20 हजार टन डीजल लीक

बुधवार को साइबेरिया (Siberia) के एक पावर प्लांट के स्टोरेज से करीब 20 हजार टन डीजल लीक हो गया. इसके बाद रूस (Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (President Vladimir Putin) ने स्टेट इमरजेंसी घोषित कर दी. दरअसल, डीजल लीक शुक्रवार को हुआ था, इस मामले की जानकारी लेट मिलने से पुतिन अपने प्रशासन पर काफी नाराज भी हुए.

यह पावर प्लांट मास्को से 2,900 किमी दूर नोर्लिस्क शहर में स्थित है. प्लांट से लीक हुआ डीजल बहकर अंबरनाया नदी में पहुंचा. अंबरनाया नदी का पानी एक झील से मिलता है, जिसका पानी दूसरी नदियों से होते हुए आर्कटिक ओशियन तक पहुंचता है. फिलहाल डीजल को रोकने की कोशिशें प्रशासन ने शुरू कर दी हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

रूसी राष्ट्रपति ने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि डीजल लीके होने के कारण कम से कम नुकसान होना चाहिए. वहीं इस मामले पर वर्ल्ड लाइफ फंड रूस के संचालक एलेक्सी का कहना है कि इस प्रकार डीजल का लीक होना पर्यावरण के साथ जानवरों के लिए भी घातक है. इससे मछलियों और अन्य संसाधनों को नुकसान पहुंचेगा.

बताया जा रहा है कि इस रिवास के कारण 1.30 करोड़ का नुकसान हो सकता है. फिलहाल रूसी प्रशासन डीजल के बहार को दूसरी नदियों में मिलने से रोकने की कोशिश में लगा है, ताकि यह आर्कटिक ओशियन तक न पहुंच सके.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts