VIDEO: पाकिस्तान में प्रदर्शनकारियों ने की हिंदू मंदिर और स्कूल में तोड़फोड़, इलाके में भड़के दंगे

पाकिस्तान हिंदू परिषद के प्रमुख ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने हिंदू समुदाय से संबंधित तीन मंदिरों, एक निजी स्कूल और कई घरों में तोड़फोड़ की है. इसी के साथ उन्होंने पुलिस से दंगों में शामिल लोगों के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए भी कहा.

पाकिस्तान के घोटकी और उसके आसपास के इलाकों में रविवार को बड़ी संख्या में लोग ईश निंदा की एक कथित घटना के विरोध में सड़कों पर उतर आए. जिससे बाद इलाके में कानून-व्यवस्था बिगड़ गई. विरोध प्रदर्शन शनिवार को एक प्रिंसिपल के खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद शुरू हुआ था. ये FIR एक छात्र के पिता अब्दुल अजीज राजपूत की शिकायत पर सिंध पब्लिक स्कूल के एक प्रिंसिपल के खिलाफ दर्ज की गई थी.

FIR अनुच्छेद 295 (सी) के तहत दर्ज की गई थी – जो कि पाकिस्तान दंड संहिता में पवित्र पैगंबर के संबंध में “अपमानजनक टिप्पणी” से संबंधित है. इसके बाद स्थानीय लोग शटर डाउन हड़ताल का आह्वान करते हुए विरोध में सड़को पर उतर आए और मांग करने लगे कि पुलिस प्रिंसिपल को गिरफ्तार करे. रविवार को प्रदर्शनकारियों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए, जिसमें उन्हें एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ करते हुए और उस स्कूल को नुकसान पहुंचाते हुए देखा जा सकता है, जहां कथित घटना हुई थी.

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी जताई चिंता

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता और पाकिस्तान असेंबली के सदस्य रमेश कुमार वांकवानी, जो पाकिस्तान हिंदू परिषद के प्रमुख भी हैं, ने बताया कि इस मामले को हैदराबाद के उप महानिरीक्षक नईम शेख को सौंप दिया गया है, जो इस मामले की आगे जांच करेंगे. उन्होंने कहा कि प्रिंसिपल सुरक्षा कारणों से अज्ञात स्थान पर थे और उन्हें शेख को सौंप दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, “मैंने सिंध के पुलिस महानिरीक्षक कलीम इमाम से बात की है जिन्होंने मुझे आश्वासन दिया है कि पुलिस आरोपी की पूरी तरह से सुरक्षा करेगी. इसलिए, मैं आज उन्हें कराची या हैदराबाद में पुलिस को सौंपने जा रहा हूं.” उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने हिंदू समुदाय से संबंधित तीन मंदिरों, एक निजी स्कूल और कई घरों में तोड़फोड़ की है. इसी के साथ उन्होंने पुलिस से दंगों में शामिल लोगों के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए भी कहा.

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी प्रदर्शनकारियों द्वारा स्कूल को तोड़ते हुए का एक वीडियो शेयर किया है साथ ही स्थिति पर चिंता व्यक्त की है. मीरपुर माथेलो और आदिलपुर सहित आसपास के शहरों में भी विरोध प्रदर्शन किया गया, जहां प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर जाम लगा दिया और पुलिस से स्कूल के प्रिंसिपल को गिरफ्तार करने की मांग की. अधिकार कार्यकर्ता सत्तार ज़ेंजो के अनुसार, क्षेत्र के हिंदू समुदाय को दंगों के कारण घर के अंदर रहने के लिए मजबूर किया गया है.

ये भी पढ़ें: ड्रोन हमलों के बाद सऊदी अरब ने आधा किया तेल उत्‍पादन, लग सकती है कीमतों में ‘आग’