कश्‍मीर पर बिलबिला रहा पाकिस्‍तान, बॉर्डर पार पंजाब प्रांत ने लिया अजीब फैसला

पहले भारत के स्‍वतंत्रता दिवस को पाकिस्‍तान ने 'काला दिवस' के रूप में मनाया, अब बॉर्डर पार पंजाब की सरकार ने भी जबरन कश्‍मीर मामले को तूल दिया है.

पाकिस्‍तान की हालत इन दिनों बेहद खराब है. भारत के आंतरिक मसलों को अंतरराष्‍ट्रीय बनाने की उसकी कोशिशें बुरी तरह नाकाम हुई हैं. UN में उसे ऐसी मार पड़ी कि कोई मरहम लगाने वाला भी न मिला. बौखलाहट में वहां अजीबोगरीब फैसले लिए जा रहे हैं. पहले भारत के स्‍वतंत्रता दिवस को उसने ‘काला दिवस’ के रूप में मनाया, अब बॉर्डर पार पंजाब की सरकार ने भी जबरन कश्‍मीर मामले को तूल दिया है.

बॉर्डर के उस पार बसे पंजाब के हर जिले में कश्‍मीर के नाम पर एक सड़क का नाम रखने का फैसला किया गया है. इसके अलावा पांच पार्कों का नाम भी बदलकर कश्‍मीर से जोड़ा जाएगा. पंजाब प्रांत के सीएम उस्‍मान बुज़दर ने शुक्रवार को यह बेढ़ंगा ऐलान किया.

बुज़दर ने कहा, “कश्‍मीर के लोगों संग सहानुभूति जताने के लिए पंजाब सरकार ने 36 सड़कों (हर जिले की एक सड़क) और पांच बड़े पार्कों का नाम ‘कश्‍मीर रोड और कश्‍मीर पार्क’ रखने का फैसला किया है.”

भारत के फैसले से बॉर्डर पार मचा है हंगामा

पाकिस्‍तान ने गुरुवार को भारत के स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर ‘काला दिवस’ बनाया था. भारत द्वारा जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले प्रावधान हटाने के फैसले के बाद से ही पाकिस्‍तान बौखलाया हुआ है.

चीन की मदद से पाकिस्‍तान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में भी गुहार लगाई थी, मगर वहां उसकी एक न चली. अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर पाकिस्‍तान अलग-थलग पड़ गया है इसलिए ध्‍यान खींचने को पंजाब सरकार जैसे फैसले लिए जा रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने शुक्रवार को कश्मीर मसले पर अपने अनौपचारिक परामर्श के दौरान स्वीकार किया कि भारत ने कश्मीर में हालात सामान्य बनाने के लिए कदम उठाया.

ये भी पढ़ें

चीन-PAK तो UN से भागे, तब सैयद अकबरुद्दीन ने बजाया भारत के लोकतंत्र का डंका- देखें VIDEO

पाकिस्तानी पत्रकार ने किया सवाल तो सैयद अकबरुद्दीन ने बिना बोले ही कर दिया पानी-पानी