कब्रिस्तान की खुदाई में मिले कुत्ते के 8400 साल पुराने अवशेष, मालिक के साथ किया था दफन

स्वीडन (Sweden) में एक कब्रिस्तान की खुदाई के दौरान पुरातत्व विभाग (Archeology department) को एक कुत्ते के अवेशष मिले हैं. दावा किया जा रहा है कि ये अवशेष 8400 साल पुराने हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:50 pm, Sat, 26 September 20
प्रतीकात्मक तस्वीर

एक कब्रिस्तान की खुदाई के दौरान पुरातत्व विभाग (Archeology department) को हजारों साल पहले के अवशेष मिले. दावा किया जा रहा है कि ये अवशेष एक कुत्ते के हैं, जिसे हजारों साल पहले मिडिल स्टोन ऐज (Middle Stone Age) में एक आदमी के साथ दफनाया गया था. कुत्ते के अवशेष मिलने के बाद उस पर स्टडी के लिए उसे म्यूजियम ले जाने पर विचार किया जा रहा है.

स्वीडन के आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट ने गुरुवार को एक कब्रिस्तान से 8,400 साल पहले दफन एक कुत्ते के अवेशष मिलने की जानकारी दी. ब्लेकिंग म्यूजियम के ओस्टियोलॉजिस्ट ओला मैग्नेल ने सोलवेस्बर्ग शहर के पास इस खोज के बारे में बताया कि कुत्ते के अवशेष अच्छी तरह से संरक्षित है. अनुमान है कि इसे मिडिल स्टोन ऐज में दफनाया गया था.

यह भी पढ़ें : फ्रेंच ओपन में दर्शकों को आने की इजाजत, मगर सरकार ने रखी ये शर्त

म्यूजियम के प्रोजेक्ट मैनेजर कार्ल पर्सन ने कहा कि अचानक समुद्र का जलस्तर तेजी से बढ़ने के चलते इलाके में कीचड़ की बाढ़ आ गई थी, जिसकी वजह से कब्रिस्तान के संरक्षण में मदद मिली. फिलहाल आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट खुदाई कर रेत और मिट्टी हटा रहा है.

म्यूजियम जाएंगे कुत्ते के अवशेष

स्वीडिश आर्कियोलॉजिस्ट ने कहा कि कुत्ते को एक व्यक्ति के साथ दफनाया गया था. उन्होंने बताया कि इससे बता चलता है कि तब लोग मरे हुए इंसान के साथ उसकी किसी खास चीज को भी दफना देते थे, जिससे उससे भावनात्मक जुड़ाव हो. कुत्ते की हड्डियों को अभी तक जमीन से हटाया नहीं गया है. आर्कियोलॉजिस्ट स्टडी के लिए इसे म्यूजियम ले जाने पर विचार किया जा रहा है.

जिस जगह पर कुत्ता मिला है, वो उस बड़ी साइट का हिस्सा है, जहां लोकल अथॉरिटी और आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट मिलकर क्षेत्र की सबसे बड़ी आर्कियोलॉजी खुदाई कर रहे है. माना जा रहा है कि इस क्षेत्र को स्टोन ऐज में शिकारियों ने बसाया था. आर्कियोलॉजिस्ट की खुदाई के बाद कब्रिस्तान पर रेजिडेंशियल एरिया बसाए जाने की उम्मीद है.