रिसर्च में दावा- चमगादड़ों की 1400 प्रजातियों में 3 हजार से अधिक Coronavirus सक्रिय

अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और एशिया में 20 देशों में चूहों, चमगादड़ों, बंदरों और इंसानों में कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर रिसर्च की गई. इससे पता चला कि चमगादड़ों की एक प्रजाति में एक से पांच किस्म के कोरोनावायरस पाए जाते हैं.

coronavirus active bats, रिसर्च में दावा- चमगादड़ों की 1400 प्रजातियों में 3 हजार से अधिक Coronavirus सक्रिय

कोरोनावायरस (Coronavirus) किस जीव से इंसानों में फैला, यह अभी तक दावे के साथ नहीं कहा जा सकता है. हालांकि कई ऐसे प्रमाण मिले हैं कि संक्रमण फैलाने के लिए चमगादड़ (Bat) जिम्मेदार हैं. बावजूद इसके इसे लेकर जानकारों में राय बंटी हुई है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी की ट्रेसी गोल्डस्टीन और उनके साथियों ने अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और एशिया में 20 देशों में चूहों, चमगादड़ों, बंदरों और इंसानों में कोरोनावायरस को लेकर परीक्षण किया था. इससे पता चला कि चमगादड़ों की एक प्रजाति में एक से पांच किस्म के कोरोना वायरस पाए जाते हैं.

3 हजार से अधिक कोरोनावायरस सक्रिय

ऐसे में 1400 विभिन्न प्रजातियों के हिसाब से देखा जाए तो चमगादड़ों में तीन हजार से अधिक कोरोनावायरस सक्रिय हैं. इसे ध्यान में रखते हुए इस नतीजे पर पहुंचना आसान है कि मनुष्यों के लिए जानलेवा कोरोना चमगादड़ से ही फैला है.

कैलिफोर्निया बर्कले यूनिवर्सिटी की डॉ. कारा ब्रुक ने अपनी रिसर्च में पाया है कि कुछ चमगादड़ों का इम्यून सिस्टम अस्वाभाविक होता है. इसमें इंटरफेरॉन पॉथवे नामक वायरस विरोधी प्रक्रिया हमेशा चलती रहती है.

उन्होंने पाया कि किसी इंफेक्शन के बिना यह प्रक्रिया चलती रहती है. इससे वायरस तेज गति से विकसित भी होता है. इस कारण अन्य स्तनपायी जीवों की तुलना में चमगादड़ में नए वायरस के भरपूर स्रोत मौजूद होते हैं.

पक्षियों से मनुष्यों में फैला सार्स वायरस 

इससे पहले यह पाया गया था कि पाम सिवेट्स पक्षियों से सार्स वायरस मनुष्यों में फैला था. पक्षियों में चमगादड़ से यह वायरस आया था. साथ ही रिसर्च से यह पता चला है कि इबोला और मार्गबर्ग बुखार भी चमगादड़ों से आया है. रैबीज वायरस भी चमगादड़ों की देन बताया जाता है.

बता दें कि देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 14,378 पहुंच गई है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़े के मुताबिक, इनमें से 11,906 अभी भी कोविड-19 वायरस से पीड़ित हैं. 1992 को अस्पताल से इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है लेकिन मरने वालों की संख्या 480 पहुंच गई है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts