हजारों मुकदमों के निपटारे के लिए सैकलर परिवार ने किया 21 हजार करोड़ से ज्यादा का भुगतान

ओपिओइड महामारी के लिए दोषी ठहराए जाने के बाद सैकलर परिवार ने पर्ड्यू फार्मा का मालिकाना हक छोड़ दिया है. साथ ही उन्होंने हजारों मुकदमों के निपटारे के लिए एक प्रस्ताव की शर्तों के तहत 3 बिलियन डॉलर का भुगतान किया है.
सैकलर, हजारों मुकदमों के निपटारे के लिए सैकलर परिवार ने किया 21 हजार करोड़ से ज्यादा का भुगतान

ओपिओइड महामारी के लिए दोषी ठहराए जाने के बाद सैकलर परिवार ने पर्ड्यू फार्मा का मालिकाना हक छोड़ दिया है. साथ ही उन्होंने हजारों मुकदमों के निपटारे के लिए एक प्रस्ताव की शर्तों के तहत 3 बिलियन डॉलर (लगभग 21 हजार 531 करोड़ रुपए) का भुगतान किया है. यह पैसा उन्होंने खुद की संपत्ति से दिया है. पर्ड्यू और सैकलर्स ने परिवार के व्यक्तिगत सदस्यों के साथ-साथ उनकी कंपनी के खिलाफ किसी भी नए मुकदमे को रोकने की मांग की है.

अगर सभी पक्ष सहमत हो जाते हैं और निपटान पूरा हो जाता है, तो पर्ड्यू फार्मा कुछ दो दर्जन निर्माताओं, वितरकों और ओपिओइड के खुदरा विक्रेताओं, जो इस स्वास्थ्य संकट में भूमिका के लिए और सैकड़ों लोगों की जान लेने के आरोपों का सामना करने वाले देशभर के सभी मामलों और दावों से निपटने वालों में पहली होगी.

द न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक यह सीधा नकद भुगतान नहीं होगा. बल्कि कंपनी के पुनर्गठन से आएगा, इसे एक निजी कंपनी से एक “सार्वजनिक लाभार्थी ट्रस्ट” में बदल दिया जाएगा. इसके तहत ओपियोड की पेन किलर ऑक्सिपोन सहित सभी दवाओं की बिक्री से होने वाले लाभ को बड़े पैमाने पर अभियोगियों को देंगे.

इसके अलावा, कंपनी अपनी एडिक्सन ट्रीटमेंट की दवाओं को भी बिना किसी लागत के जनता को देगी. नए ट्रस्ट और ड्रग डोनेशन से होने वाले मुनाफे का मूल्य कुल 7 बिलियन से 8 बिलियन डॉलर के बीच होने का अनुमान है. अपने 3 बिलियन डॉलर के नकद भुगतान के अलावा, सैकलर एक अन्य दवा कंपनी, मुंडिफार्मा को बेचेंगे और आय से अतिरिक्त 1.5 बिलियन डॉलर का योगदान देंगे.

मालूम हो कि अमेरिका में हजारों लोग ओपिओइड के ओवरडोज के कारण मारे गए हैं. ओपिओइड का दुरुपयोग और इसके सेवन के बाद होने वाला एडिक्शन एक गंभीर राष्ट्रीय संकट बन गया, जिसने सार्वजनिक स्वास्थ्य को प्रभावित किया और हजारों लोगों की मौत हो गई.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस पर सत्यपाल मलिक का हमला, कहा- लोग जूतों से मारेंगे जब चुनाव आएगा

Related Posts